आईएस पर अमेरिकी ड्रोन से हमले में मारे गए कई बच्चे, एक ही परिवार के नौ लोग लोगो की मौत

काबुल: काबुल में अमेरिकी ड्रोन हमले में कई बच्चों के मारे जाने की खबर मिल रही है। सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, रविवार को हुए हमले में कई अफगानी नागरिक मारे गए हैं। अमेरिका ने दावा किया था कि उसने आईएस के आत्मघाती कार बॉम्बर पर हमला किया था जो काबुल एयरपोर्ट पर हमले की तैयारी में था।

सीएनएन ने स्थानीय पत्रकार और मारे गए लोगों के रिश्तेदार से बातचीत के आधार पर अपनी रिपोर्ट में बताया है कि अमेरिकी हमले में एक ही परिवार के नौ लोग मारे गए जिसमें छह बच्चे थे। इनमें से मारे गए सबसे कम्र उम्र के की बच्ची 2 साल की थी। हमले में मारे गए एक शख्स के भाई ने ये जानकारी दी। रिपोर्ट के मुताबिक, मारे गए परिवार के पड़ोसी अहद ने बताया कि हमले के बाद सभी पड़ोसियों ने आग को पानी से बुझाने की कोशिश की थी। मैंने देखा कि वहां पांच-छह लोग मारे गए थे। इनमें पिता, एक जवान लड़का और कुछ बच्चे थे। सभी की मौत हो चुकी थी। उनका शरीर टुकड़ों में था। इसके अलावा दो लोग घायल भी थे।

वहीं, एसोसिएटेड प्रेस ने एक अनाम अफगानी अधिकारी के हवाले से अपनी रिपोर्ट में बताया कि हमले में तीन बच्चों की मौत हुई। सीएनएन की रिपोर्ट के बाद अमेरिका ने कहा है कि वह जांच कर रहा है कि हमले में नागरिकों की मौत हुई या नहीं। और अगर ऐसा हुआ तो ये बेहद दुखद होगा। बता दें कि अमेरिका ने लगातार दूसरे दिन रविवार को भी अफगानिस्तान में हवाई हमले को अंजाम दिया था। अमेरिकी सेना ने काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के करीब विस्फोटकों से भरे एक वाहन में मौजूद आत्मघाती हमलावरों को रॉकेट से निशाना बनाया। अमेरिकी सेना ने कहा कि हमलावर एयरपोर्ट पर आत्मघाती हमला करने वाले थे, इसलिए आत्मरक्षा में हवाई हमला किया गया। इस हमले में एक बच्चे समेत छह लोगों की मौत की खबर दी गई थी, लेकिन अधिकृत तौर पर कोई संख्या नहीं बताई गई।

काबुल हवाई अड्डे के उत्तर पश्चिम में करीब एक किलोमीटर दूर ख्वाजा बुगरा क्षेत्र के गुलाई में रविवार दोपहर बेहद तेज धमाके के बाद आसमान में बहुत धुआं उड़ता देखा गया। इसके बाद तालिबान प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने विस्फोटकों से भरी एक कार पर अमेरिकी हवाई हमले की पुष्टि की थी। देर शाम अमेरिकी सेना की सेंट्रल कमान के प्रवक्ता कैप्टन बिल अर्बन ने हमले की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि आत्मरक्षा के तहत अमेरिकी सेना ने काबुल में एक वाहन पर मानवरहित हवाई हमला किया। यह हमला हामिद करजई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर आईएसआईएस-के के संभावित हमले को रोकने के लिए किया गया। उन्होंने कहा, हमने लक्ष्य को सफलता से भेदा है। कैप्टन बिल ने कहा कि वाहन में बाद में हुए दूसरे विस्फोटों से उसके अंदर पर्याप्त विस्फोटक होने की पुष्टि हुई है। हालांकि उन्होंने आम नागरिकों की मौत की पुष्टि नहीं की। उन्होंने कहा कि अमेरिका इसका आकलन कर रहा है, लेकिन अभी तक कोई ऐसे संकेत नहीं मिले हैं।

दोनों घटनाएं शनिवार को अमेरिका के नांगरहार प्रांत में हवाई हमला कर आईएस-खुरासान के उन दो आतंकियों को मारने के बाद हुईं, जिन्होंने बृहस्पतिवार को काबुल एयरपोर्ट पर आत्मघाती धमाका कराकर 13 अमेरिकी कमांडो समेत 180 लोगों को मारने की साजिश रची थी। हालांकि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शनिवार को ही अगले 24 से 36 घंटे के अंदर एयरपोर्ट पर दोबारा आतंकी हमला होने की चेतावनी जारी की थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper