आखिर कम्पनियां एक महीने के रिचार्ज पर 28 दिन की वैलिडिटी क्यों देती हैं?

महीने का अब हर किसी के लिए सबसे जरुरी खर्च हुआ है तो वह है मोबाइल रिचार्ज का. बीते कुछ वर्षों में तेजी के साथ बदलाव आया है. टेलिकॉम कम्पनियों के प्लान्स अब पूरी तरह बदल चुके हैं. पहले जहां कंपनियां एक जीबी इन्टरनेट डेटा के लिए अच्छा ख़ासा चार्ज लेती थी तो वहीं अब उसकी अपेक्षा अब काफी सस्ता हुआ है. 4जी नेटवर्क ने काफी कुछ बदला है. लेकिन इस सब के बीच जो एक चीज बरकरार है तो वह है रिचार्ज की वैधता.

सभी टेलीकॉम कंपनियां एक महीने के रिचार्ज पर 28 दिन की वैलिडिटी ही देती हैं. अगर आपने एक महीने का रिचार्ज कराया है तो वह सिर्फ 28 दिनों तक ही काम करेगा. कभी आपने सोचा है कि आखिर कम्पनियां ऐसा करती क्यों हैं?

दरअसल, कम्पनियां 30 दिनों का वैलिडिटी देकर एक साल में 13 बार रिचार्ज करवा लेती हैं. एक साल में 7 ऐसे महीने होते हैं, जो 31 दिनों के होते हैं. इनमें 28 हर महीने में हटा दें तो 3 प्रति महीने के हिसाब से 21 दिन हो जाते है. फरवरी हटाकर 4 ऐसे महीने हैं जो 30 दिन के हैं. तो इस हिसाब से 8 दिन इन महीनों के बढ़ जाएंगे. इस तरह 21 और 8 मिलकर 29 दिन हो जाते है. इसी एक महीने के रिचार्ज से कंपनी करोड़ों कस्टमर से मोटा मुनाफा कमा लेती हैं.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper