आगरा को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए काम में लाएं तेजी: कठेरिया

आगरा ब्यूरो। आगरा को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए शनिवार को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष सांसद प्रो. रामशंकर कठेरिया की अध्यक्षता में सर्किट हाउस में आगरा स्मार्ट सिटी एडवाइजरी फोरम की द्वित्तीय बैठक सम्पन्न हुई। इसमें आगरा स्मार्ट सिटी लि. के कार्यों का प्रस्तुतीकरण किया गया तथा उसकी गहन समीक्षा की गयी।

बैठक में आयोग के अध्यक्ष कठेरिया ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि स्मार्ट सिटी से सम्बधित चल रहे सभी कार्यों में तेजी लाएं। विकास का काम कागजों में नहीं जमीन पर नजर आने चाहिए। शहर को स्मार्ट बनाने के लिए जनमानस को भी साथ लाना होगा।

बैठक में आगरा महानगर के चारों तरफ से आने वाले सड़क मार्गों पर प्रवेश द्वार बनाये जाने का निर्णय लिया गया है, ताकि आगरा में पधारने वाले पर्यटकों व नागरिकों को यह लगे कि वह एक ऐतिहासिक एवं पर्यटन नगरी में प्रवेश कर रहे हैं। ये द्वार आगरा-जयपुर रोड, आगरा-मथुरा रोड, आगरा-ग्वालियर रोड, आगरा-अलीगढ़ रोड, आगरा-फिरोजाबाद रोड, आगरा रमांडा होते हुए बाह रोड तथा आगरा-खेरिया मोड़ आदि सात स्थानों पर बनाए जाएंगे।

प्रवेश द्वार हेतु पीएमसी दाराशां द्वारा प्रस्तुत डिजाइन पर गहन समीक्षा के बाद निर्णय लिया गया कि प्रवेश द्वार कम से कम आगामी 50 वर्षों का ध्यान रखते हुए बनाया जाय तथा उसकी डिजाइन नई व दूरदृष्टि के अनुकूल हो, उसकी कहीं से नकल नहीं होनी चाहिए।

बैठक में इस बात पर निर्णय लिया गया कि महानगर में एमजी रोड पर विद्युत वितरण सिस्टम को पूरी तरह से ठीक करके स्मार्ट सिटी के अनुरूप बनाया जाए तथा सड़क पर अवरोध बने ट्रांसफार्मरों तथा टेढ़े-मेढ़े खम्भों को टोरेण्ट द्वारा ठीक कराया जाय। विद्युत विभाग यह सुनिश्चित कराये। किसी भी दुर्घटना के समय टोरेण्ट की जिम्मेदारी होगी।

बैठक में आयुक्त ने विद्युत विभाग को निर्देशित किया कि टोरेण्ट द्वारा अधिक से अधिक डिमाण्ड वाले स्टीमेट प्रस्तुत करने की जांच कराकर उसकी आख्या प्रस्तुत करें। इसके अतिरिक्त नालों में केबिल डालने तथा अन्य प्रकार की लापरवाही से हुई दुर्घटना पर एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए।

बैठक में कहा कि स्मार्ट सिटी के कार्यों को साइन बोर्ड पर प्रदर्शित करने हेतु महानगर में 20 स्थलों का चयन कर बोर्ड लगवाये जाए तथा इसे समाचार पत्रों में प्रकाशित कराकर इसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाय। बैठक में आयुक्त ने कहा कि नगर-निगम द्वारा एक कंट्रोल रूम स्थापित किया जाय, जहां लोग अपनी शिकायतें दर्ज करा सकें।

बैठक में स्मार्ट सिटी से संबंधित कार्यों को गुणवत्तापूर्ण ढंग से कराये जाने, एडीए द्वारा अपने से सम्बन्धित सभी स्ट्रीट लाइटें तत्काल ठीक कराये जाने, यमुना किनारे ताजगंज शवदाह गृह का सकरा रास्ता चौड़ा करने तथा फतेहाबाद रोड पर गुणवत्तापूर्ण रूप से कार्य कराये जाने पर विशेष बल दिया गया। इसके साथ ही पीएमसी दाराशॉ से अपेक्षा की गई कि वह अपने आर्किटेक्चर शाखा को विशेषज्ञों के सहयोग से और मजबूत करें।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper