आगामी विधानसभा चुनाव 80 फीसदी बनाम 20 फीसदी के बीच होगा : योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: ‘ सबका साथ सबका विकास, लेकिन तुष्टीकरण किसी का नहीं’ की नीति को दोहराते हुए उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव 80 फीसदी बनाम 20 फीसदी के बीच होगा और भाजपा राष्ट्रवाद, सुशासन और विकास के मुददे पर इसे लड़ेगी। उन्होंने कहा, ‘‘ 80 फीसदी समर्थक एकतरफ होंगे, 20 फीसदी दूसरी तरफ। मुझे लगता है कि 80 फीसदी लोग सकारात्मक ऊर्जा के साथ आगे बढ़ेंगे, जबकि 20 फीसदी ने हमेशा विरोध किया है, आगे भी करेंगे, लेकिन सत्ता भाजपा की आएगी। भाजपा फिर ‘सबका साथ, सबका विकास’ के अभियान को आगे बढ़ाने का काम करेगी।’’

उन्होंने शनिवार को दो दिवसीय दूरदर्शन कॉन्कलेव के समापन अवसर पर ‘कितना बदला यूपी’ कार्यक्रम में एक सवाल का जवाब देते हुए कहा,‘‘हम लोग जब 2017 में सरकार में आये थे तो हमने एक चीज उसी समय तय कर ली थी कि हमारी सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ के मंत्र को अंगीकार करते हुए कार्य करेगी। हमने विकास योजनाओं का लाभ सबको दिया है, विकास सबका किया है, लेकिन तुष्टीकरण किसी का नहीं किया।’’ उन्होंने कहा,‘‘अगर कोई इसे हमारी कमजोरी मानता है तो यह कमजोरी हमेशा हमारे साथ रहेगी, क्योंकि राष्ट्रवाद हम सबका संस्कार है। अपने इस राष्ट्रवाद के मुद्दे से हमलोग कभी भी विचलित नहीं होंगे । दूसरा, कोई भारत विरोधी तत्व और हिन्दू विरोधी तत्व मोदी जी और योगी को कैसे स्वीकार कर लेगा, वह हमें कभी भी स्वीकार नहीं करेगा। मैं अपनी गर्दन काटकर तश्तरी में उसके सामने प्रस्तुत कर दूं, तो भी वह मुझे कोसेगा ही। ऐसे तत्वों की हम परवाह नहीं करते हैं।’’

उन्होंने कहा,” हम चुनाव में राष्ट्रवाद, सुशासन और विकास के मुददे को लेकर जाते हैं । कानून का राज हमारी प्राथमिकता है, हर एक व्यक्ति को सुरक्षा, सबको सुरक्षा लेकिन तुष्टीकरण किसी का नहीं। सरकार सबको सुरक्षा की गारंटी देगी और मैं इस बात को बहुत गौरव के साथ कह सकता हूं कि हमारी सरकार में दंगे नहीं हुए, हमारी सरकार में कोई आतंकी घटना नहीं घटी, हमारी सरकार में सभी पर्व और त्योहार शांतिपूर्वक संपन्न हुए।” उन्होंने कहा,‘‘मेरी प्रतिबद्धता प्रदेश की 25 करोड़ जनता के साथ है, बिना भेदभाव के मुझे उनके लिए कानून का शासन स्थापित करना है और हम लोग उन लक्ष्यों की ओर बढ़ रहे हैं। मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि जो गलतफहमी के शिकार हैं, वे ही अपने आंकड़े प्रदेश में थोपने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन यह चुनाव 80 फीसदी बनाम 20 फीसदी के बीच होगा, 80 फीसदी समर्थक एकतरफ होंगे और 20 फीसदी दूसरी तरफ।’’

विधानसभा चुनाव की बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘साल भर में जो विद्यार्थी मेहनत नहीं करता है, कक्षा में नहीं जाता है, उसकी समझ में चीजें स्पष्ट नहीं होती हैं। उसे ज्यादा घबराहट होती है, लेकिन जिसने नियमित रूप से अपनी कक्षायें की हों, जिसने अपना कार्य समयबद्ध तरीके से आगे बढ़ाया हो और हर एक क्षेत्र में अच्छा करने का प्रयास किया हो तो उसके लिए अपनी उपलब्ध्यिों को लेकर के जाने का उत्साह होता है । मुझे लगता है कि मैं उन विद्यार्थियों में से हूं, जिसने पूरी तन्यमयता के साथ पार्टी के विजन को, पार्टी के लोक कल्याण संकल्प पत्र को जमीनी धरातल पर उतारने का काम किया है।’’ उन्होंने कहा,‘‘ विपक्ष के लिए यह धुकधुकी जरूर पैदा होगी कि अगली बार वे विपक्ष में बैठने लायक रहेंगे या नहीं। मुझ जैसे व्यक्तियों के लिए या भारतीय जनता पार्टी के लिए कोई घबराहट नहीं बल्कि एक उत्सव होगा और चुनाव को हम लोग भी एक उत्सव के रूप में लेकर उसका आनंद भी लेंगे ।’

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनने दीजिये, जितने भी लोग अयोध्या में राम जन्मभूमि के लिए शहीद हुए हैं, उन सब का भव्य स्मारक हम बनवाएंगे।’’ कोरोना महामारी के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किये गये कामों के बारे में योगी आदित्यनाथ ने कहा,‘‘इस महामारी की दो लहरों का सरकार ने अच्छी तरह से प्रबंधन किया है । सरकार ने उसकी तीसरी लहर से निपटने के लिए व्यापक और पर्याप्त इंतजाम किए हैं। किसी को घबराने की जरूरत नहीं है, बल्कि सतर्क रहने की जरूरत है। सभी को टीके की खुराक ले लेनी चाहिए। प्रदेश की 25 करोड़ की आबादी होने के बावजूद केवल 22 हजार 900 मौतें राज्य में कोरोना से हुई हैं।’’

मुख्यमंत्री ने विपक्ष को मुद्दाविहीन करार देते हुए कहा,‘‘2017 से पहले प्रदेश में दंगे होते थे, पेशेवर दंगाइयों को मुख्यमंत्री आवास पर बुलाकर सम्मानित किया जाता था। पुलिस दंगाइयों के सामने गिड़गिड़ाती थी। आज पेशेवर दंगाई किसी बिल के अंदर छिपा हुआ है या दूसरे लोक की यात्रा पर जा चुका है । साल 2017 के पहले प्रदेश के अंदर आतंकवादी जहां मर्जी हो, वहां विस्फोट कर देते थे, 2017 के बाद एक भी विस्फोट नहीं हुआ, एक भी दंगा नहीं हुआ, यह फर्क साफ है।” योगी ने कहा,‘‘ जिन लोगों ने प्रदेश में सार्वजनिक संपत्ति जलाई है, उसे नष्ट करने का प्रयास किया है, हमने कानून बनाया है और ऐसे लोगो के पोस्टर चस्पा किये और उनसे वसूली भी की।’’ उन्होंने अयोध्या, काशी, मथुरा में सरकार द्वारा चलायी जा रही विकास योजनाओं के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper