आज से FASTAG जरूरी

गोरखपुर: सोमवार की रात 12 बजे से टोल प्लाजा पर कैश लेन को खत्म कर दिया जाएगा। इसे लेकर एनएएचआई ने टोल प्लाजा प्रबंधकों के साथ बैठकें कर तैयारी पूरी कर ली है। सोमवार की रात 12 बजे के बाद बिना फास्टैग टोल प्लाजा से गुजरने वाले वाहनों को डबल टोल देना होगा। इस नई व्यवस्था को लेकर गोरखपुर के नयंसर, तेनुआ और शेरपुर चमराह टोल प्लाजा पर कर्मचारी और अधिकारी व्यवस्था में जुटे हैं। टोल प्लाजा पर फास्टैग लगा रही कम्पनियों के स्टाल पर खासी भीड़ दिखी। रविवार को 200 वाहनों में फास्टैग लगाए गए। फास्टैग को लेकर लाउडस्पीकर लगा कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है और पम्पलेट भी दिया जा रहा है।

पीपीगंज संवाद के अनुसार रविवार को नयनसर टोल पर अस्सी फीसदी से अधिक गाड़ियों का भुगतान फास्टैग से हो रहा है। तमाम लोकल वाहनों में फास्टैग नहीं लगा है। वहीं 20 फीसदी गाड़ियों में फास्टैग तो लगा है लेकिन वह रिचार्ज नहीं है। जैतपुर संवाद के अनुसार टोल मैनेजर नवीन शर्मा ने बताया कि फास्टैग की अनिवार्यता को लेकर असमंजस था। शाम को ई-मेल से सूचना मिली कि सोमवार रात 12 बजे से कैश लेन को बंद करना है। फास्टैग को लेकर लोगों को जागरूक करने के लिए सभी लेन के बूथों पर हैंडबिल पर्ची छपवाकर गाड़ी मालिकों और ड्राईवरों को भी दिया जा रहा है।

जंगल कौड़िया संवाद के अनुसार कालेसर-जंगल कौड़िया के शेरपुर चमराह टोल प्लाजा पर सोमवार की रात 12 बजे से फास्टैग की अनिवार्यता को लेकर तैयारी कर ली गई है। यहां फास्टैग स्टाल भी लगाया गया है। टोल प्लाजा मैनेजर बीके त्रिपाठी ने बताया कि लोकल वाहन स्वामियों को भी फास्टैग और रिचार्ज करने को लेकर जागरूक किया जा रहा है।

एनएचआई द्वारा डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के लिए 15 फरवरी की रात 12 बजे से सभी गाड़ियो में फास्टैग से टोल लेना अनिवार्य कर दिया गया है। अभी तक बिना फास्टैग वाली गाड़ियों के लिए एक-एक कैश लेन चलाया जा रहा है लेकिन सोमवार की रात में 12 बजे के बाद से कैश वाला लेन बंद कर दिया जाएगा। इसके लिए पुलिस-प्रशासन से भी मदद ली जाएगी। सीएम द्विवेदी, परियोजना निदेशक, एनएचएआई

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper