आदेशों पर गौर करें और रोकें भीड़, ओमिक्रॉन की आफत के बीच केंद्र का राज्यों को ‘5 पॉइंट’ वाला मंत्र

नई दिल्ली: गृह मंत्रालय ने ओमीक्रोन के बढ़ते खतरे के मद्देनजर राज्यों को नया परामर्श जारी किया है, जिसमें नए साल और त्योहारों के मद्देनजर भीड़ को नियंत्रित करने पर जोर दिया गया है। राज्यों से कहा गया है कि वह जरूरत पड़ने पर स्थानीय स्तर पर पाबंदियां लगाएं।

पांच चरणीय रणनीति बनाएं :
केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्यों के मुख्य सचिवों को यह पमरार्श जारी किया है। भल्ला ने परामर्श में कहा कि राज्य तथा केंद्र शासित प्रदेश त्योहारी सीजन के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए जरूरत के हिसाब से स्थानीय स्तर पर पाबंदियां लगाने पर विचार करें। राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों से ढिलाई ना बरतने की अपील की। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि पांच चरणीय रणनीति पर निरंतर ध्यान दिया जाना चाहिए। पांच चरणीय रणनीति है-जांच, संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की पहचान, उपचार, टीकाकरण और संक्रमण के मामलों को बढ़ने से रोकने के लिए कोविड-19 संबंधी दिशानिर्देशों का पालन।

आदेशों पर गौर करें :
भल्ला ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा कि 21 दिसंबर को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा दिए गए सुझावों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए गृह मंत्रालय द्वारा दिए गए आदेशों पर गौर करें। परामर्श में कहा गया है कि देश में संक्रमण के उपचाराधीन मामलों में गिरावट आई है। हालांकि नए स्वरूप ‘ओमीक्रोन’ को ‘डेल्टा’ वीओसी (वोलेटाइल कार्बनिक कंपाउंड) से अधिक संक्रामक बताया जा रहा है और यह कोविड-19 से निपटने के लिए किए गए उपायों को भी चुनौती दे रहा है।

अब तक 19 राज्यों में फैला :
गृह सचिव ने कहा कि देश में ‘ओमीक्रोन’ स्वरूप के अभी तक 578 मामले सामने आ चुके हैं, ये मामले 19 राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में सामने आए हैं। उन्होंने बताया कि विश्व में 116 देशों में ‘ओमीक्रोन’ के मामले सामने आ चुके हैं। अमेरिका, ब्रिटेन, यूरोप (फ्रांस, इटली, स्पेन), रूस, दक्षिण अफ्रीका, वियतनाम, ऑस्ट्रेलिया आदि में इसके कारण संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी भी दर्ज की गई है।

जिला स्तर पर आकलन जरूरी
भल्ला ने कहा कि 21 दिसंबर को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए परामर्श में एक मानक ढांचा प्रदान किया गया। कई राज्यों में ‘डेल्टा’ स्वरूप की विशिष्ट उपस्थिति और ‘ओमीक्रोन’ के मामले सामने आने के कारण स्थानीय तथा जिला स्तरों पर अधिक दूरदर्शिता, आंकड़ों के विश्लेषण, गतिशील निर्णय लेने, सख्त एवं त्वरित रोकथाम के लिए कार्रवाई करने और स्थिति का आकलन करने की जरूरत है।

आवश्यक दवाओं का ‘बफर स्टॉक’ हो
गृह सचिव ने कहा कि 23 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओमीक्रोन की मौजूदा स्थिति और देश भर में स्वास्थ्य प्रणालियों की तैयारी की समीक्षा की थी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि नए स्वरूप से उत्पन्न किसी भी चुनौती का सामना करने के लिए स्वास्थ्य प्रणालियां तैयार हों। उन्होंने कहा कि राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के प्रशासन को यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि ऑक्सीजन आपूर्ति उपकरण लगे हों, पूरी तरह से काम कर रहे हों और आवश्यक दवाओं का ‘बफर स्टॉक’ (सुरक्षित भंडार) हो।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper