आपके कंफर्म ई-टिकट पर यात्रा कर सकेंगे परिजन, जानें ट्रांसफर करने की प्रक्रिया

नई दिल्ली: आईआरसीटीसी ने कन्फर्म ई-टिकट से यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एक नई सुविधा की शुरुआत की है जिसकी जानकारी ज्यादातर लोगों को नहीं है. नई सुविधा के तहत आपके सगे संबंधी आपके टिकट पर यात्रा कर सकेंगे. आईआरसीटीसी ने ई-टिकट को अपने परिजनों के नाम पर ट्रांसफर करने की सुविधा देने जा रही है. रेलवे ने लोगों की समस्या को समझते हुए थोड़ा नियमों में ढील दी है. टिकट तो ट्रांसफर हो सकेगा लेकिन यात्रा तिथि और समय वही रहेगा.

ऐसे ट्रांसफर होगा ई-टिकट
ई-टिकट पर नाम बदलवाने के लिए पैसेंजर को 24 घंटे पहले आवेदन करना होगा. यात्री को ई-टिकट की इलेक्ट्रॉनिक स्लिप के प्रिंट आउट के साथ पास के रिजर्वेशन काउंटर पर प्रस्तुत करना होगा. फिर जिनके नाम पर टिकट ट्रांसफर कराना है, उसके साथ संबंध का प्रमाण-पत्र, दस्तावेज़ दिखाने होंगे. सभी दस्तावेज़ का सत्यापन करने के बाद काउंटर पर बैठा अधिकारी टिकट पर नाम बदल देगा.

नाम बदलने के लिए कुछ शर्तें भी होंगी
नाम बदलने के लिए कुछ शर्तें हैं जिनका ख्याल आपको रखना होगा. जैसे नाम केवल एक बार ही बदला जाएगा. यात्रा दिनांक और समय में कोई बदलाव नहीं होगा. टिकट केवल माता-पिता, भाई-बहन, बेटा-बेटी व पत्नी के नाम पर ट्रांसफर की जा सकेगी. यह सुविधा सरकारी कर्मचारियों के लिए भी है. यदि किसी सरकारी विभाग का कर्मचारी, किसी दूसरे सरकारी विभाग के कर्मचारी के लिए अपना टिकट ट्रांसफर करना चाहता है तो वह ऐसा कर सकता है. सरकारी कर्मचारियों को भी नाम बदलवाने के लिए 24 घंटे पहले आवेदन करना होगा.

बोर्डिंग स्टेशन भी बदल सकेंगे यात्री
आईआरसीटीसी बोर्डिंग स्टेशन बदलने की सुविधा भी देने जा रही है. ऑनलाइन टिकट बुकिंग हिस्ट्री में जाकर बोर्डिंग स्टेश्न को सिलेक्ट करके बोर्डिंग स्टेशन में बदलाव किया जा सकेगा.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper