‘आप’ के 200 ग्राम प्रधान व 70 जिला पंचायत सदस्य जीते: आम आदमी पार्टी

लखनऊ: आम आदमी पार्टी ने दावा किया है कि उसके 200 से ज्यादा ग्राम प्रधान प्रत्याशी और 70 से अधिक जिला पंचायत सदस्यों जीत चुके हैं। यूपी प्रभारी व राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि पहली बार पंचायत चुनाव में उतरी आम आदमी पार्टी को जनता ने भरपूर प्यार दिया है। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव के नतीजों ने विधानसभा चुनाव में होने वाले बदलाव के संकेत दिए हैं।

पार्टी ने अच्छा प्रदर्शन करने वाले सदस्यों को विधानसभा चुनाव में मौका देने का वायदा फिर दोहराया है। उन्होंने कहा कि अभी पूरे परिणाम आने बाकी है। राजधानी लखनऊ से लेकर प्रदेश के लगभग सभी जिलों से उम्मीदवार जीते हैं। हमारे कई प्रत्याशी दूसरे, तीसरे स्थान पर रहे है। संजय सिंह ने कहा कि पंचायत चुनाव में प्रदेश की जनता ने विधानसभा चुनाव में होने वाले बड़े बदलाव का संकेत दे दिया है। यूपी में पार्टी का परिवार बढ़ना शुरू हो गया है। पार्टी का संगठन गांवों तक खड़ा हो गया है। बड़ी संख्या में पार्टी समर्थित क्षेत्र पंचायत सदस्य भी विजयी हुए हैं।

उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे लोगों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई हैं। शहर की पार्टी बताकर आम आदमी पार्टी को नकारने वालों को जनता ने खुद जवाब दे दिया है। मुख्यमंत्री के गृह जनपद गोरखपुर से लेकर प्रतापगढ़, संतकबीर नगर, जौनपुर, बागपत, बरेली, मैनपुरी, लखीमपुर खीरी, महोबा आदि जिलों में पार्टी ने विधानसभा चुनाव का मॉकड्रिल माने जा रहे जिला पंचायत चुनाव में सफलता हासिल की है।

प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने आरोप लगाया है कि सरकार के दवाब में प्रशासन ने पार्टी के जीते उम्मीदवारों को प्रमाणपत्र न देने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मैनपुरी, बांदा, रायबरेली और पीलीभीत जैसे कई जिलों से शिकायतें आई हैं कि उन्हें प्रमाणपत्र नहीं मिले हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper