‘आप’ के 21 विधायकों पर गिरी गाज, हाईकोर्ट के सवाल का देना होगा जवाब

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के 21 विधायकों को अब यह साबित करना होगा कि संसदीय सचिव का पद लाभ का नहीं है। यह बात दिल्‍ली हाईकोर्ट ने विधायकों की याचिका की सुनवाई के दौरान कहा। ऐसा करके दिल्‍ली हाईकोर्ट ने एक बार गंदे को आम आदमी पार्टी के पाले में डाल दी है। अदालत में इंसाफ के लिए गए इन विधायकों के लिए यह टेढ़ी खीर हो सकती है। गौरतलब है कि हाई कोर्ट में आप के 20 अयोग्य विधायकों की याचिका पर सुनवाई शुरू हो गई है। अब इस मामले की कोर्ट में रोज सुनवाई होगी। सुनवाई के दौरान अदालत ने कहा कि जो 21 संसदीय सचिव बनाए गए थे, वो निर्धारित संख्या से ज्यादा हैं।

नियम के मुताबिक विधानसभा सदस्यों की कुल संख्या के 10 फीसद को ही संसदीय सचिव बनाया जा सकता है, लेकिन आप ने इससे ज्यादा संख्या में संसदीय सचिव बनाए। कोर्ट ने कहा कि अब आप सिर्फ यह साबित कर दीजिए कि संसदीय सचिव का पद लाभ का नहीं है। कोर्ट में जिन सात मुद्दों पर बहस हुई, उन पर आप के विधायकों ने अपना पक्ष रखा। उनका कहना है कि राष्ट्रपति का चुनाव आयोग की राय लेने के लिए भेजा गया पत्र नियम के मुताबिक नहीं है। साथ ही याचिकाकर्ता प्रशांत की ओर से चुनाव आयोग को भेजे गए खत में हस्ताक्षर नहीं हैं।

उन्होंने कोर्ट में कहा कि हमें व्यक्तिगत तौर पर चुनाव आयोग ने अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया। हमसे चुनाव आयोग ने सिर्फ लिखित बयान लिए हैं, जबकि मौखिक रूप से बोलने की इजाजत नहीं दी। हमने कोई लाभ का पद सरकार से नहीं लिया गया है। तीन घंटे से अधिक चली सुनवाई के दौरान आप विधायकों के वकील ने कहा कि हमने कोई ऑफिस सेक्रेटरी के तौर पर नहीं लिया। हाई कोर्ट ने भी सेक्रेटरी की नियुक्ति को अपने आदेश में संवैधानिक ठहराया था। इसके अलावा चुनाव आयोग के जिन पदाधिकारी के सामने सुनवाई हुई, उन्होंने खुद को केस से अलग कर लिया था। उन्होंने कोर्ट में दलील दी कि राष्ट्रपति और चुनाव आयोग के बीच जो पत्र भेजे गए, उनमें नियमों का पालन नहीं किया गया है।

‘आप’ के 21 विधायक जिन पर गिरी गाज

1- आदर्श शास्त्री : द्वारका से जीत दर्ज करने वाले अाप के उम्‍मीदवार आदर्श शास्‍त्री ने भाजपा प्रत्‍याशी प्रद्युम्‍न राजपूत को पराजित किया था।
2- अलका लांबा : 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की जीत हुई थी लेकिन 2015 में हुए चुनाव में आप की अलका लांबा ने इस पर अपना कब्‍जा जमाया था।
3- संजीव झा : बुराड़ी विधानसभा से जीत दर्ज करने वाले संजीव झा ने भजपा उम्‍मीदवार गोपाल झा को पराजित किया था।
4- कैलाश गहलोत : नजफगढ़ विधानसभा से जीत दर्ज करने वाले कैलाश गहलोत ने इंडियन नेशनल लोक दल के उम्‍मीदवार भरत सिंह को पराजित किया था।
5- विजेंदर गर्ग : राजेंद्र नगर विधानसभा से जीत दर्ज करने वाले विजेंदर गर्ग ने भाजपा उम्‍मीदवार आरपी सिंह को पराजित किया था।
6- प्रवीण कुमार : जंगपुरा विधानसभा से जीत कर आने वाले आप के उम्‍मीदवार प्रवीण कुमार ने भाजपा के मनिंदर सिंह धीर को पराजित किया था।
7- शरद कुमार चौहान : नरेला विधानसभा क्षेत्र से जीत दर्ज करने वाले शरद कुमार चौहान ने भाजपा प्रत्‍याशी नील दमन खत्री को पराजित किया था।
8- मदन लाल : कस्‍तूरबा नगर से आम आदमी पार्टी ने 2013 में भी जीत दर्ज की थी. 2015 में पार्टी के उम्‍मीदवार मदन लाल ने भाजपा के रवींद्र चौधरी को पराजित किया था।
10- शिव चरण गोयल : मोती नगर सीट पर आप प्रत्‍याशी शिव चरण गोयल की जीत हुई थी। शिव चरण गोयल ने भाजपा के सुभाष सचदेवा को पराजित कर इस सीट पर अपना कब्‍जा जमाया था।
11- सरिता सिंह : रोहतास नगर सीट पर सरिता सिंह ने भाजपा के जितेंद्र महाजन को पराजित किया था।
12 – नरेश यादव : महरौली से आप के नरेश यादव ने भाजपा के सरिता चौधरी को पराजित कर इस सीट पर कब्‍जा जमाया था।
13- राजेश गुप्ता : वजीरपुर से चुनकर आने वाले राजेश गुप्‍ता ने भाजपा के डॉ महेंद्र नागपाल को पराजित किया था। 2013 में हुए चुनाव में इस सीट पर बीजेपी का कब्‍जा था।
14- राजेश ऋषि : जनकपुरी से जीत दर्ज करने वाले आप के राजेश ऋषि ने भाजपा के कद्दावर नेता जगदीश मुखी को पराजित किया था।
15- अनिल कुमार बाजपेई : गांधी नगर से जीत कर आने वाले अनिल कुमार बाजपेई ने भाजपा के जितेन्‍द्र को पराजित किया था।
16- सोम दत्त : सदर बाजार सीट पर कांग्रेस उम्‍मीदवार अजय माकन तीसरे नंबर पर आए थे। इस सीट से सोम दत्‍त की जीत हुई थी और उन्‍होंने भाजपा के प्रवीण कुमार जैन को पराजित किया था।
17- अवतार सिंह : कालकाजी विधानसभा सीट पर आप ने जीत दर्ज की थी. इस सीट पर अवतार सिंह ने भाजपा के हरमित सिंह कालका को पराजित किया था।
18- सुखबीर सिंह : मुंडका सीट पर बीजेपी के उम्‍मीदवार मास्‍टर आजाद सिंह को हराकर आप के उम्‍मीदवार सुखबीर सिंह ने इस सीट पर कब्‍जा जमा लिया था।
19- मनोज कुमार : कोंडली (सुरक्षित) से जीत कर आने वाले मनोज कुमार ने भाजपा के प्रत्‍याशी हुकम सिंह को पराजित किया था।
20- नितिन त्यागी : लक्ष्‍मी नगर से जीत दर्ज करने वाले नितिन त्‍यागी ने भाजपा के बीबी त्‍यागी को पराजित किया था।
21- जरनैल सिंह : तिलक नगर विधानसभा सीट से जरनैल सिंह ने भाजपा के राजीव बब्‍बर को हराया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper