आप भी करते हैं अपने घरों में इस फल का सेवन, तो एक बार इस खबर को जरूर पढ़ें

सीताफल खाने के फायदे आपको पता हो या न हो लेकिन यह आपके द्वारा पसंद जरूर किया जाता होगा। लेकिन सीता फल के औषधीय गुणों के कारण इसके बहुत से स्वास्थ्य लाभ भी हैं। सीताफल एक ऐसा फल है जो कि तासीर में ठंड़ा होने के बावजूद सर्दीयों के मौसम में खाया जाता है। सीताफल में बहुत से स्वास्थ्य वर्धक पोषक तत्व मौजूद रहते हैं जो हमें रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह, पाचन, एनिमिया, कैंसर आदि गंभीर समस्याओं के प्रभाव को कम करने में मदद करता है। इस लेख में आप जानेगें सीताफल खाने के फायदे के बारे में।

सीताफल में प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट विटामिन सी बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। विटामिन सी में शरीर की रोगों से लड़ने वाली शक्ति यानी इम्युन सिस्टम को बढ़ाने की क्षमता होती है तो हर दिन एक बार सीताफल खाइए और भगाइए दूर बीमारियों को। मां बनने के तुरंत बाद महिलाओं को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में माताओं को शरीफा (sarifa) का सेवन करना चाहिए। यह फायदा पहुंचााता है। महिलाएं 1-2 ग्राम शरीफा की जड़ के चूर्ण का सेवन करे। इससे प्रसूता संबंधित विकार में लाभ होता है।

आपकी त्वचा को स्वस्थ रखने में रोम छिद्र की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जब रोम छिद्र किसी विकार से ग्रस्त हो जाते हैं, तो त्वचा को इसका नुकसान झेलना पड़ता है। रोम छिद्र विकार को ठीक करने के लिए सीताफल के पत्ते का पेस्ट बना लें, और लेप लगाएं। इससे त्वचा के घाव, त्वचा पर होने वाली सूजन, और रोम छिद्र की बीमारी में लाभ होता है।

शुगर या मधुमेह की समस्या के लिए सीताफल बहुत अच्छा होता है। यह रक्त में शुगर के स्तर और साथ-साथ मधुमेह के जोखिम को कम कर सकता है। यदि आपको पहले से ही शुगर की समस्या है तो इसका एंटीहाइपरग्लिसेमिक प्रभाव शुगर की समस्या को और भी बढ़ने से रोकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper