सूबे के पहले औद्योगिक रेल पार्क में होगा ढाई हजार करोड़ का निवेश

लखनऊ ब्यूरो। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में मंगलवार को औद्योगिक (इंडस्ट्रियल) इंडस्ट्रियल रेल पार्क इन्वेस्टर्स मीट का उद्घाटन करते हुए यहां कहा कि डेढ़ साल पहले यूपी में केवल तीन हवाई अड्‌डे चालू हालत में थे। हमने एयर कनेक्टिविटी के लिए कई काम किए हैं। आज प्रयागराज, आगरा, कानपुर के एयरपोर्ट शुरू हो गए हैं। इंटरनेशनल एयरपोर्ट के तौर पर कौशांबी में भी एयरपोर्ट शुरू होगा। इस औद्योगिक रेल पार्क में ढाई हजार करोड़ का निवेश किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश संभावनाओं वाला प्रदेश है। इसलिए डिफेंस कॉरिडोर की स्थापना के लिए आ रही दिक्कतों को खत्म करते हुए उस पर काम शुरू कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब पहला इन्वेस्टर समिट हुआ था, उसके बाद से कई क्षेत्रों में निवेश आया और ग्राउंड ब्रेकिंग द्वारा निवेश जमीन पर उतारा गया था। आज रेल पार्क इन्वेस्टर मीट उसी क्रम में एक बड़ी उपलब्धि है। इस मीट का आयोजन फतेहपुर में 254 एकड़ में स्थापित होने वाले रेल एन्सीलरी पार्क के लिए किया गया। प्रदेश में निजी औद्योगिक पार्क नीति बनने के बाद रेल एन्सीलरी पार्क के रुप में यह पहला निजी पार्क बनने जा रहा है।

राज्यसभा सांसद अमर सिंह कार्यक्रम में रहे आकर्षण के केंद्र

मुख्यमंत्री ने समाजवादी पार्टी पर तंज कसते हुए कहा कि यूपी में जो जिले पीछे हैं वहां निवेश, रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य की सुविधाएं कम हैं। कुछ जनपदों पर पिछली सरकार द्वारा ध्यान नहीं दिया गया, जिनकी वजह से वह पीछे हैं। लेकिन आज हम यह कह सकते हैं उत्तर प्रदेश के अंदर आठ जनपद हैं, जो अन्य जनपदों से पिछड़ गए थे। जिसमे फतेहपुर भी है। इन सभी आठ जनपदों के लिए हमने रोडमैप तैयार किया है। आठ में से चार जनपदों में हम मेडिकल कॉलेज दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मेडिकल कॉलेज का मतलब सिर्फ सैफई मेडिकल कॉलेज नहीं होता, जो एक गांव तक ही सीमित रहे। मेडिकल कॉलेज लोगों को रोजगार देता है और क्षेत्र के सर्वांगीण विकास में अपना अहम योगदान देता है। वैसे ही रेल पार्क भी उस स्थान के स्थानीय विकास में अपना योगदान देगा। रेल पार्क के लिए जो काम शुरू हो रहा है, यह सराहनीय है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में निवेश के लिए हमने जो नीतियां बनाई हैं यदि निवेशक नीतियों के साथ आएंगे तो उनको दिक्कतें नहीं होंगी। जिन-जिन निवेशकों ने नीतियों के साथ निवेश किया है उनको कही भी कोई दिक्कत नहीं आ रही है। उन्होंने कहा कि रेल परिवहन देश में सुगम, सस्ता और सुरक्षित है। इसको बेहतर बनाने के लिए रेल पार्क का अपना सहयोग होगा।

कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने कहा कि इन्वेस्टर मीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति ने हम सभी को जोश दिया था, साथ ही एक बड़े निवेश के एमओयू पर साइन किए गए थे जिसके बाद ग्राउंड ब्रेकिंग में 60 हज़ार करोड़ का निवेश आया। तब हमने इंडस्ट्रियल पार्क के लिए भी बात की थी, जो आज जमीन पर दिख रहा है। आज हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि अब उत्तर प्रदेश में हम कंपनी लगा सकते हैं। हमारी सरकार ने कंपनियों के लिए लगातार काम किया है, पहले कंपनियों के बारे में सोचा भी नहीं जाता था।

केंद्रीय मंत्री निरंजन ज्योति ने कहा कि उद्योग विभाग भी कुछ होता है, इसको उत्तर प्रदेश सरकार ने साबित करके दिखाया है। इसलिए फतेहपुर में रेल पार्क बनाने के लिए मैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताती हूं ​क्योंकि अब लोग फतेहपुर को जानने लगेंगे।
मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय ने कहा कि मार्डन कोच फैक्ट्री लालगंज की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए यह पार्क स्थापित किया जा रहा है। इंवेस्टर्स मीट में 150 निवेशक पहुंचे हैं। रेल पार्क के जरिए करीब 2500 करोड़ का निवेश होगा। इससे करीब 20 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

उन्होंने कहा कि 20वीं पॉलिसी में रेल पार्क बन रहा है और 21वीं पॉलिसी में डिफेंस कॉरिडोर पार्क बनेगा। 60 हज़ार करोड़ का ग्राउंड ब्रेकिंग हम कर चुके हैं। एक लाख करोड़ का ग्राउंड ब्रेकिंग जल्द करने वाले हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper