इंदौर में कोरोना से तीन और मौत, आंकड़ा 30 तक पहुंचा

इंदौर: शहर में 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 7 लोगों की मौत हो गई। देर रात जारी रिपोर्ट में 3 और मौतों की पुष्टि की गई है। इनको मिलाकर इंदौर शहर में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 30 पहुंच गई है। शुक्रवार शाम तक जहां 4 मौत की पुष्टि हुई थी। वहीं इंदौर मेडिकल कॉलेज ने शनिवार अलसुबह 4 बजे तीन और मौत की पुष्टि की, इसमें से एक की मौत 8 अप्रैल को हुई थी। जबकि दो की मौत 10 अप्रैल को हुई थी। शुक्रवार को कोरोना वायरस से प्राइवेट प्रैक्टिशनर डॉक्टर की मौत हो गई। गुरुवार को भी इंदौर में एक निजी चिकित्सक की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हुई थी। शाम को आई रिपोर्ट में शहर में 14 नए मरीज मिले।

इसी के साथ कुल पॉजिटिव की संख्या 249 पर जा पहुंची। यह पूरे प्रदेश में मिले कुल मरीजों का 50 प्रतिशत है। ब्रह्मबाग कॉलोनी निवासी 65 साल के जिस डॉक्टर की मौत हुई है, वह जिला आयुष अधिकारी धार रह चुके हैं। रिटायरमेंट के बाद से ही वह इंदौर में प्रैक्टिस कर रहे थे। ब्रह्मबाग निवासी इस डॉक्टर के क्लीनिक में आसपास के उस क्षेत्र से भी मरीज पहुंचे थे जहां कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज अधिक संख्या में मिले थे। 2 दिन पहले ही उन्हें एमआरटीबी अस्पताल में भर्ती किया गया। इसके पहले किसी प्राइवेट अस्पताल में उनका उपचार किया जा रहा था। मौत की पुष्टि सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिय़ा ने की है।

शुक्रवार को 14 नए मरीज सामने आए। जिन्हें मिलाकर अब कुल संक्रमित लोगों की संख्या 249 तक पहुंच चुकी है। इंदौर में अब तक कोरोना पॉजिटिव मरीजों के स्वस्थ होने की संख्या 28 हो चुकी है जो देश में सबसे अधिक है। मेडिकल कॉलेज से जारी बुलेटिन के अनुसार कुल मरीजों में से 176 मरीजों की हालत स्थिर है। 13 मरीज अभी भी गंभीर स्थिति में हैं। रिपोर्ट के अनुसार उमेश नगर से एक ही परिवार के दो मरीज सामने आए हैं। वहीं तिलक नगर से भी दो मरीज एक ही परिवार के मिले हैं। इसके अलावा नंदन कॉलोनी, परदेसीपुरा, स्कीम नंबर 71, गुमास्ता नगर, लालबाग श्रवण कॉलोनी, पुलिस कॉलोनी, इकबाल कॉलोनी, स्वामीनारायण नगर, विहार कॉलोनी और अहिल्या पलटन से भी एक-एक मरीज सामने आए हैं।

शहर में जिन क्षेत्र से सबसे अधिक मरीज मिले हैं वहां पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा सर्वे कराया जा रहा है। इसमें 304 संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज भेजे गए हैं। इसके अलावा एमवाय अस्पताल से 83, सिविल हॉस्पिटल महू से 56, मयूर अस्पताल से 5, जीएचआरसी से 17, विशेष अस्पताल से 3, सिनर्जी अस्पताल से 4, डेंटल हॉस्पिटल से 44,सुयश हॉस्पिटल से 8, अरिहंत अस्पताल से 2, अरविंदो अस्पताल से 8, सीएचएल अस्पताल से 2 और बॉम्बे हॉस्पिटल से 27 सैंपल प्राप्त हुए हैं।

शहर में आखिरकार कोरोना वायरस ने दस्तक दे ही दी। शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात 2 बजे पहुंची रिपोर्ट के बाद कलेक्टर ने तत्काल कफ्र्यू लगा दिया। युवती 6 अप्रैल से ही क्वॉरेंटाइन सेंटर पर है। वह पुणे से मंदसौर पहुंची थी। इसके बाद युवती के नगर पालिका कॉलोनी और रामटेकरी स्थित निवास की एक-एक गली पूरी तरह बंद कर दी गई है। रात में ही कलेक्टर मनोज पुष्प ने कफ्र्यू की घोषणा कर गोल चौराहा और राम टेकरी क्षेत्र के कुछ हिस्से को कंटेंटमेंट क्षेत्र घोषित कर दिया है। प्रशासन ने युवती व परिवार के संपर्क में आए 24 लोगों को पहले से ही चिन्हित कर रखा है। आज लगभग 24 सैंपल भेजे जाएंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper