इन वजहों से ग्रीन पार्क पर भारी पड़ा इकाना स्टेडियम

लखनऊ: क्रिकेट के नक्शे में राजधानी का इकाना अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम शानदार मौजूदगी दर्ज कराने को तैयार है। इसका सबसे बड़ा संकेत है वेस्टइंडीज के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय टी-20 क्रिकेट मुकाबले को कानपुर के ग्रीन पार्क से छीनकर लखनऊ के इकाना लाना। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिए लखनऊ और कानपुर में स्पर्धा पहले भी रही है, लेकिन तब ग्रीन पार्क के मुकाबले लखनऊ का इकलौता बाबू केडी भसह स्टेडियम होता था। इस बार ग्रीन पार्क पर भारी पडऩे की वजह बना है नवनिर्मित इकाना जो विश्वस्तरीय सुविधाओं के मामले में ग्रीन पार्क से कई हाथ आगे है।

इकाना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम छह नवंबर को भले ही भारत और वेस्टइंडीज के टी-20 मुकाबले की पहली बार मेजबानी करने जा रहा है लेकिन इसी के साथ लखनऊ ही नहीं बल्कि खेल जगत में पूरे यूपी का रुतबा कायम हो जाएगा। लखनऊ स्पोर्ट्स हब बनने की राह पर है। लखनऊ क्रिकेट संघ लगभग 145 क्लबों का संचालन करता है। इनमें से कई ऐसे क्लब हैं जिसके पदाधिकारी यूपीसीए से जुड़े हैं। ये पदाधिकारी भी इकाना को मिली अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी से बहुत उत्साहित हैं। लखनऊ से ताल्लुक रखने वाले रणजी के कई पूर्व खिलाडिय़ों का मानना है कि जल्द ही यूपीसीए अपना मुख्यालय लखनऊ में बना सकता है। इससे यहा के खिलाडिय़ों को आगे बढऩे का मौका मिलेगा। क्या कहना है स्डेडियम के मैनेजिंग डायरेक्टर का?

इकाना स्पोर्ट्स स्डेडियम मैनेभजग डायरेक्टर उदय सिन्हा का कहना है कि यह आयोजन हमारे लिए किसी त्योहार से कम नहीं है। मुझे लगता है कि इस दिन का इंतजार लखनऊ के अलावा पूरे प्रदेश के क्रिकेट प्रेमी बहुत बेसब्री से कर रहे थे। हम इसे सफल बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इस मेजबानी के बाद भविष्य में लखनऊ के लिए अंतरराष्ट्रीय मैच की राह खुल जाएगी। लखनऊ का इकाना बनाम कानपुर का ग्रीन पार्क : खूबी – इकाना – ग्रीन पार्क दर्शक संख्या – 50000 – 32000 ड्रेनेज सिस्टम – बारिश का पानी निकाला जा सकता है – जल्दी नहीं निकाला जा सकता एयरपोर्ट से दूरी – 12 किमी – 85 किमी फाइव स्टार होटल – लगभग आधा दर्जन – सिर्फ एक क्यों खास है यह स्टेडियम : – विश्वस्तरीय ड्रेनेज सिस्टम से बहुत कम समय में बारिश के पानी को ग्राउंड से बाहर निकल जाएगा – 40 वीआइपी बॉक्स और 8 कॉरपोरेट लॉन्ज हैं – लगभग 71 एकड़ में बना है इकाना स्टेडियम – मुंबई और कटक से मंगाई गई मिट्टी से बनी है स्टेडियम की नौ पिच – क्रिकेटरों और दर्शकों के बीच किसी तरह की कोई जाली नहीं बनाई गई है – स्टेडियम में लगभग 2600 गाडिय़ों की पार्किंग की व्यवस्था है – 1800 वर्ग फीट की दो बड़ी स्क्त्रीन लगी है। इससे मैदान के चारों तरफ से उठा सकेंगे मैच का लुत्फ। आइसीसी की टीम भी संतुष्ट : आइसीसी भी इस मैदान को लेकर खुश नजर आ रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper