इलाज में लापरवाही से रेप पीड़िता की मौत, आक्रोशित तीमारदारों ने जमकर किया हंगामा

लखनऊ: जिला संयुक्त अस्पताल अमेठी से रेफर की गई रेप पीड़िता किशोरी को समय पर सही इलाज न मिलने से रविवार दोपहर उसकी मौत हो गई। आक्रोशित तीमारदारों ने अस्पताल पर समय पर वेंटीलेटर न देने का आरोप लगाया। तीमारदारों का कहना था अस्पताल स्टॉफ से मरीज को वेंटीलेटर स्पोर्ट पर भेजने के लिए कहते रहे, परन्तु किसी ने उनकी एक न सुनी। तीमारदारों ने मामले की शिकायत शासन के आला अधिकारियों से करने की बात कही है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अमेठी की रहने वाली किशोरी (17) का गांव के एक युवक ने उससे दुराचार किया था। गर्भधारण होने पर उसे युवक ने गर्भपात के लिए जबरन दवा खिला दी। इससे उसे ब्लडिंग होने लगी। अधिक ब्लडिंग होने पर परिजनों को इसकी जानकारी हुई। घरवालों ने युवक पर रेप का आरोप लगाते हुए गौरीगंज कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। किशोरी को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया, जहां से उसे सप्ताह भर पहले बेहतर इलाज के लिए तीमारदार लखनऊ ले लाए थे। यहां पर उसे सिविल अस्पताल में भर्ती कराया था।

अखिलेश सरकार में हुआ घोटाला आया सामने, निदेशक समेत छह अफसर निलंबित

इलाज के दौरान डाक्टरों ने शनिवार को उसे डॉक्टरों ने हालत गंभीर होने पर केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर रेफर किया था। वहां पर पहुंचने पर तीमारदार किशोरी को लेकर चार घंटे तक भर्ती करने का इंतजार करते हुए खड़े रहे, भर्ती कराने की कोशिश, लेकिन बिस्तर खाली नही है। मरीज किशोरी को भर्ती नहीं किया गया। तीमारदार देर रात करीब दो बजे उसे लेकर बलरामपुर अस्पताल आए।

यहां पर उसे इमरजेंसी में डाक्टरों ने जांच के बाद गंभीर बतायी और भर्ती किया गया था। मरीज की हालत गंभीर होने पर ऑक्सीजन लगानी पड़ी थी। रविवार दोपहर मरीज की हालत और भी बिगड़ गई। परेशान तीमारदार इमरजेंसी में मौजूद स्टॉफ से वेंटीलेटर स्पोर्ट पर भेजने के लिए कहते रहे मगर कोई सुनवाई न हुई और उसकी मौत हो गयी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper