इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज से होगी सिर्फ वर्चुअल सुनवाई, कोविड के चलते लिया फैसला

प्रयागराज: कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे और तीसरी लहर की आशंका को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बड़ा कदम उठाया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट में सोमवार से मुकदमों की वर्चुअल सुनवाई होगी। कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के तेजी हो रहे प्रसार को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट की प्रशासनिक कमेटी ने यह फैसला लिया है।

तीन जनवरी से इलाहाबाद हाईकोर्ट की प्रधान पीठ और लखनऊ बेंच दोनों ही जगहों पर अदालतें वर्चुअली ही मुकदमे की सुनवाई करेंगी। अग्रिम आदेशों तक फिजिकल मुकदमों की सुनवाई की व्यवस्था को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। चीफ जस्टिस राजेश बिंदल की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह वर्चुअल सुनवाई का फैसला लिया गया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट की प्रशासनिक कमेटी ने इस फैसले से अवध बार एसोसिएशन और इलाहाबाद हाईकोर्ट बार एसोसिएशन को भी अवगत करा दिया है। कोर्ट ने वर्चुअली मुकदमे की सुनवाई में अधिवक्ताओं से भी सहयोग की अपेक्षा की है।

आज से 15-18 साल के बच्चों को लगेगा कोरोना का टीका आज से 15-18 साल के बच्चों को लगेगा कोरोना का टीका सुप्रीम कोर्ट ने भी जारी किया है सर्कुलर बता दें, सुप्रीम कोर्ट ने भी वर्चुअल मुकदमों की सुनवाई को लेकर सर्कुलर जारी किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के नए वेरीएंट ओमिक्रॉन के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए मुकदमों की सुनवाई 3 जनवरी से 2 सप्ताह के लिए वर्चुअली सुनवाई का आदेश दिया है। इसके पहले कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भी इलाहाबाद हाईकोर्ट में लंबे समय तक वर्चुअली मुकदमों की सुनवाई हुई थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper