इस गांव में शादी से पहले बच्चे पैदा करना जरूरी, वजह जान घूम जाएगा दिमाग !

नई दिल्ली: आज हम आपको एक बहुत ही दिलचस्प और अजीबो-गरीब न्यूज़ सुनाने जा रहे हैं जिसमे आपको बहुत कुछ अटपटा लग सकता है | हम कितने भी मॉडर्न और स्टैण्डर्ड क्यों ना हो जाए पर शादी से पहले बच्चे पैदा करना वाला कांसेप्ट इंडिया में तो नहीं चलेगा | आज भी हमारे देश में इस बात को गलत माना जा है और अगर किसी लड़की से भूले-अनजाने में गलती हो भी जाती है तो वो उस बच्चे को बदनामी के डर से जन्म नहीं देती है |

मगर इसी भारत में एक जगह ऐसी भी जहाँ शादी से पहले आपस में सम्बन्ध बनाया जाता है और फिर बच्चे भी पैदा किये जाते हैं …और सबसे ख़ास बात ये है कि ये सारी किर्याकर्म लड़का-लड़की के घर वालों के मर्ज़ी से होता है | आपको जान कर हैरानी होगी कि इस जगह में ये प्रथा सदियों से चली आ रही है और इसे पूरा गाँव बहुत शान से मनाता है|

#1.शादी से पहले रिलेशनशिप में रहना पड़ता है

उदयपुर के किसी गाँव के रहनेवाले ये लोग ” ग्रासिया ” जनजाति के कहलाते हैं , इनका पूरा जीवन सिर्फ कृषि पर ही निर्भर है | यहाँ लगभग पिछले 100 सालों से एक प्रथा चली आ रही है जिसमे लड़का-लड़की को शादी से पहले एक ही साथ सालों तक रहना होता है , और फिर जब लड़की गर्भवती होकर बच्चे को जन्म देती है तब इनकी शादी कराई जाती है |

#2.प्रेमी जोड़ा चाहे तो शादी से मना भी कर सकता है

अभी इस जाती की कहानियां यहीं पर खत्म नहीं हुई है , हैरान कर देने वाली बात तो ये है कि बच्चा पैदा हो जाने के बाद अगर लड़का या लड़की में से कोई भी उस रिश्ते को आगे बढ़ाना नहीं चाहता है तो इसमें कोई बड़ी बात नहीं है | यहाँ से शादी भी इनकी मर्ज़ी के हिसाब से ही होती है, अगर वो नहीं करना चाहते हैं तो कोई ज़बरदस्ती नहीं है | रिवाज़ दरअसल ये है की अगर लिव के दौरान इन जोड़े को बच्चा है हुआ तो इसके बाद दोनों अलग हो सकते हैं और फिर से किसी और के साथ अपने भविष्य की प्लानिंग कर सकतें हैं।

#3. लड़कियों को दिया जाता है खास सम्मान

इस जाती के लोगों में लड़कियों को बाउट सम्मान दिया जाता है , मगर ये कैसा सम्मान है मुझे तो समझ में नहीं आ रहा है | खैर , यहाँ के नियम के मुताबिक आज तक इस गाँव में किसी भी महिला पर उत्पीड़न या बलात्कार का कोई रिकॉर्ड सामने नहीं आया है | अच्छी बात ये है कि अगर कोई जोड़ा आपस में रहना चाहता है तो लड़के के माँ-बाओ ही उसे सारा खर्च देते है , और ऐसे में अगर बात शादी तक आ गयी तो शादी का सारा खरचा लड़के वाले ही उठाते हैं |

#4. इस प्रथा को दापा प्रथा कहते हैं

इतने सारे अजीबो-गरीब रस्म सुनकर मेरे तो दिमाग ही घूम गए , आपको मैं बता दूँ कि इस अनोखे नियन को ” दापा प्रथा ” कहते है | यहाँ पर दो दिनों का सामूहिक विवाह का मेला लगता है जिसमे लड़का-लड़की अपनी पसंद के पार्टनर के साथ भाग जाते है और वापस आकर लिव इन रिलेशन में रहने लगते हैं। यहाँ वैसे भी जोड़े आते हैं जो अपना पार्टनर चेंज करना चाहते हैं|

#5. अधिक पैसा होने तक इंतज़ार करते हैं

वैसे तो ये लोग सिर्फ खेती ही करते हैं , मगर फिर भी शादी-ब्याह करने से पहले इनका यही प्लान रहता है कि पहले कुछ पैसे जमा हो जाये तब जाकर शादी करेंगे | मेले में वैसे लोग भी आते हैं जो अपनी पुरानी पार्टनर से खुश नहीं और कोई नया अमीर पार्टनर से शादी करने चाहते हैं | तो अब तक तो आप समझ ही चुके होंगे कि क्यों ये रिवाज इतना ज़्यादा अनोखा है|

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper