इस गांव में हर घर में है 1 पायलट, मकान के बाहर कार-स्कूटर नहीं, पार्क होता है बड़ा-सा प्लेन

नई दिल्ली: अगर आप किसी ऐसे गांव पहुंचे जहां हर घर के बाहर कार या स्कूटर की जगह एक प्लेन पार्क हो तो? आपको लगेगा कि हम मजाक कर रहे हैं लेकिन ऐसा नहीं है। अमेरिका में एक ऐसा गांव है जहां हर घर के बाहर प्लेन पार्क होता है। पूरी दुनिया में 630 एयरपार्क हैं, जिसमें से 610 अमेरिका में ही है। दुनिया का सबसे पहला एयरपार्क कैलिफॉर्निया के Fresno में बना था। इसका नाम Sierra Sky Park था। इसे 1946 में बनाया गया था।

सोशल मीडिया पर एक टिकटोक यूजर ने वीडियो शेयर किया है। ये वीडियो इंटरनेट पर छा गया है। इसमें हर घर के बाहर एक प्लेन खड़ा नजर आ रहा है। ये अमेरिका के रेसिडेंशियल एयरपार्क की फोटोज हैं। इसमें हर घर के बाहर स्कूटर-कार की जगह ऐरोप्लेन खड़ा दिखाई दिया।अमेरिका में ऐसे कई एयरपार्क्स हैं। इन्हें खास वजह से बनाया गया था।

दरअसल, सेकंड वर्ल्ड वॉर के दौरान अमेरिका में पायलटों की संख्या चार लाख से ज्यादा हो गई थी। लेकिन जब लड़ाई खत्म हुई तब कई प्लेन बेकार हो गए।
इस वजह से अमेरिका की The Civil Aeronautics Administration ने आवासीय कॉलोनी बसाकर एयरपार्क बनाने का निर्णय लिया। इसमें खाली हुए एयरस्ट्रिप्स में रिटायर्ड मिलिट्री पायलट को बसाने का निर्णय लिया गया।

इन कॉलोनीज को फ्लाई-इन कम्युनिटीज कहते हैं। जहां हर घर के बाहर कार-स्कूटर नहीं, बल्कि हवाई जहाज लगा रहता है। इन कॉलोनीज की सड़कें काफी लंबी-चौड़ी होती हैं। इसमें सड़क पर बिना टकराए सड़क-कार पार कर सकती है। पूरी दुनिया में 630 एयरपार्क हैं, जिसमें से 610 अमेरिका में ही है। दुनिया का सबसे पहला एयरपार्क कैलिफॉर्निया के Fresno में बना था। इसका नाम Sierra Sky Park था। इसे 1946 में बनाया गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper