इस देश में महिला सैनिक पहनती हैं पुरुषों वाले अंडरवियर, हैरान करने वाली वजह आई सामने

वैसे तो महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग अंडरवियर बनाए गए हैं। लेकिन दुनिया में एक ऐसा देश भी है जहां महिलाएं पुरुषों का अंडरवियर पहनती है। ये महिलाएं कोई आम महिला नहीं बल्कि महिला सैनिक हैं। महिला सैनिक यहां अपनी मर्जी से पुरुषों के अंडरवियर नहीं पहनतीं। दरअसल यहां का नियम है जो सालों से चलता आ रहा है। कहा जा रहा है कि जल्द ही इस नियम में बदलाव लागू हो जाएगा।

ये मामला है सबसे खूबसूरत देश में से एक स्विट्जरलैंड का जहाँ अब इस मामले में बदलाव होने जा रहा है। दरअसल स्विजरलैंड मैं यह व्यवस्था ऐसी है जो सालों से चलती चली आ रही है। यहां की सभी महिला सैनिक जब भी यहां तैनात होती है उन्हें सालों से पुरुषों के अंडरवियर पहनने पड़ते हैं। पिछले सालों में कई बार इस पर विचार भी किया गया था लेकिन अब महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए इस नियम में बदलाव करने की बात कही गई है। इसके लिए अब सेना महिला सैनिकों को महिला अंडरवियर देने जा रही है इसके बाद महिलाओं को पुरुष अंडरवियर से आजादी मिल जाएगी।

बताया जाता है कि यहां महिला सैनिकों की भागीदारी कम है,इस लिए उनके लिए अलग से कोई इंतजाम नहीं किए जाते हैं। लेकिन स्विटजरलैंड की आर्मी सेना में महिलाओं की ज्यादा भागीदारी चाहती है, इसलिए अब ये नियम बदला जा रहा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper