इस पेड़ की सुरक्षा में दिन रात लगे हैं जवान, इसके एक-एक पत्ते पर रखी जाती है कड़ी नजर

मुंबई: आज के समय में हर कोई यही चाहता है कि वो सुरिक्षत रहे वहीं आपने कई बार सुना या देखा भी होगा कि हमारे समाज में जितने भी बड़ी हस्तियां हैं उनकी सुरक्षा में लाखों रूपए खर्च किए जाते हैं वहीं अगर बात करें नेता और सेलिब्रिटीज की तो इनकी तो बात ही अलग होती है। लेकिन आज हम आपको जो खबर सुनाने जा रहे हैं उसे सुनने के बाद आप भी हैरान हो जाएंगे जी हां आपको बता दें कि ऐसा आपने शायद ही सुना होगा कि किसी नेता या सेलेब्रिटीज की नहीं बल्‍की पेड़ की सुरक्षा में लाखों रूपए खर्च किए जा रहे हैं। जी हां हैरान हो गए न लेकिन ये सच है।

दरअसल ये बात तो हम सभी जानते हैं कि पेड़ हमारे जीवन में भोजन और पानी की तरह ही महत्वपूर्ण हैं। पेड़ के बिना जीवन बहुत कठिन बन जायेगा या हम कह सकते हैं कि जीवन खत्म हो जायेगा क्योंकि हमें स्वस्थ और समृद्ध जीवन देने में पेड़ बहुत मुख्य पहलू है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे पेड़ के बारे में बताने जा रहे है जिसके आस-पास कड़ी सुरक्षा रहती है जी हां बिल्‍कुल वैसी ही जैसी किसी नेता मंत्री के साथ होती है। भले ही आपको हमारी बातों पर यकीन नहीं हो रहा होगा लेकिन ये सच है। बता दें कि इस पेड़ की सुरक्षा के लिए फौज तैनात की गयी है और सबसे ख़ास बात यह है कि यहाँ तैनात सुरक्षा कर्मी इस बात पर विशेष ध्यान रखते है कि इस पेड़ का एक भी पत्ता जमीन पर निचे ना गिरने पाए।

वहीं ये भी बता दें कि जिस पेड़ के बारे में हम बात कर रहे हैं वो दिखने में बिल्‍कुल एक मामूली पेड़ के जैसा ही है। इस पीपल के पेड़ की महत्ता बहुत ज्यादा है क्योंकि यह एक बौध वृक्ष है और यहाँ महात्मा बुद्ध ने ज्ञान की प्राप्ति की थी वहीं ये भी बता दें कि ये पेड़ मध्यप्रदेश में है और ये भी बता दें की मध्यप्रदेश सरकार ने श्रीलंका से यह पेड़ मंगवाया था और यह पेड़ भी असल में बौध वृक्ष का ही एक हिस्सा है। बीते दिनों जब श्रीलंका के प्रधानमंत्री इंडिया आये थे तब उन्होंने बौध वृक्ष की एक टहनी मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भेट में दी थी।

वहीं आपको ये भी बता दें कि मध्य प्रदेश के रायसेन के सांची स्तूप में ये पेड़ लगा है। जिसे बोद्ध वृक्ष नाम दिया गया है बताया जा रहा है कि मध्यप्रदेश सरकार ने इंसानों की तरह इस पेड़ की बीमारी को जानते हुए इसकी सुरक्षा लगवाई है। इस पेड़ को कैटर पिलर नाम का कीड़ा लगा है जो इस पेड़ को बर्बाद करने में लगा है जिसकी वजह से पेड़ लगातार सूखता जा रहा है। यही कारण है इस पेड़ की सुरक्षा के लिए दो-तीन गार्ड तैनात रहते है ताकि कोई इस पेड़ को कोई नुक्सान न पहुंचा सके।आपको शायद यकीन नहीं होगा लेकिन बता दें कि अभी तक इस पेड़ की सुरक्षा में करीब 65लाख रूपये खर्च हो चुके है इसके अलावा एक खास बात ये है कि इस वृक्ष में पानी डालने के लिए एक अलग से गाडी लगाई गयी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper