इस पौधे के फायदे कर देंगे हैरान, महिलाओं के लिए तो कुदरत का वरदान

नई दिल्ली: हमारा देश शुरू से ही आयुर्वेदिक वस्तुओं का अधिक प्रयोग करने वाला देश है, इसके साथ हमारे देश में ही सबसे ज्यादा औषधियां पायी जाती है। पुराने समय में लोग जब अस्वस्थ होते थे तो यहाँ के लोग आयुर्वेद व जड़ी-बुटियों की मदद से स्वस्थ हो जाया करते थे। आपको बता दे कि आयुर्वेद में इतनी शक्ति होती है कि जो किसी भी प्रकार के बीमारी को पूर्ण रूप से ठीक कर सकती है।

इस लिए उस समय आयुर्वेद का काफी महत्व था। लेकिन अब आयुर्वेद का प्रयोग समय के साथ कम हो गया है। यह बात तो हम सभी जानते हैं कि प्रकृति में स्वास्थ्य का खजाना छुपा हुआ है। प्रकृति में कई ऐसी चीजें है, जिनका यदि हम ठीक प्रकार से प्रयोग करे तो इसके इस्तेमाल से बड़ी से बड़ी बीमारियो को ठीक किया जा सकता है। इन से अलावा प्रक्रति में कई ऐसी वस्तुऐ पाई जाती है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होती है। आज हम आपको इन्हीं में से एक ऐसे पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं, जो प्रकृति का दिया हुआ एक बहुत बड़ा वरदान है।

हम बात कर रहे है सदाबहार पौधे की। इस पौधे में कई ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो आपके लिए बहुत ही फायदेमंद है। विशेषकर से महिलाओं के लिए तो यह पौधा तो किसी वरदान से कम नहीं। जहां एक तरफ यह पौधा अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। तो वहीं दूसरी तरफ इस पौधे में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों से आपको निजाद दिला सकते हैं। तो चलिए आपको बताते है कि सदाबहार का पौधा किस तरह से आपके लिए फायदेमंद है।

ब्लडप्रेशर की समस्या में

कई ऐसे लोग है, जिन्हें ब्लड प्रेशर से जुडी बीमारिया है। तो हम आपको बता दे यह पौधा उन लोगो के लिए बहुत ही लाभकारी है। विशेषज्ञो की माने तो सदाबहार के पौधे की जड़ में अज्मलसिने नामक एल्कलॉइड पाया जाता है, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायक होता है। ऐसे में जो व्यक्तिय हाई ब्लड प्रेशर के शिकार है, वह अगर सदाबहार के पौधे की जड़ को सुबह-सुबह चबाकर खाएं, तो उनको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

डायबिटीज की समस्या में

सदाबहार के पौधे में एल्कलॉइड, पैंक्रियाज की बीटा जैसे कई तत्व पाए जाते है, जो सेल्स को मजबूत रखने में सहायक होते है, जिसके फलस्वरूप शरीर में इंसुलिन की सही मात्रा बनने लगती है। यदि जो व्यक्ति डायबिटीज की समस्या से परेशान हो तो उसे सदाबहार के पत्ते के रस को पीते रहना चाहिए या इसकी पत्तियों को चबाकर खाने से उनको डायबिटीज में लाभ मिलेगा।

कैंसर की समस्या में

यह एक ऐसी बीमारी है, जिसका इलाज अत्यंत जटिल है। लेकिन आपको हम यह जानकारी दे दे कि सदाबहार पौधे के पत्ते में कैंसर से बचने के लिए कई आवश्यक तत्व पाए जाते हैं। इसकी पत्तियों में विन्क्रिस्टिन और विंब्लास्टिन नामक एंजाइम पाए जाते हैं, जो कैंसर से बचने में सहायक होती हैं। यदि कैंसर के रोगी इसकी पत्तियों की चटनी बना कर रेगुलर सेवन करे तो यह इनके लिए काफी फायदेमंद होगा।

खुजली की समस्या में

यदि आपको खुजली से जुडी समस्या है, तो आप सदाबहार की पत्तियों को पीसकर प्रभावित जगह पर लगा सकते है। ऐसा करने से आपको खुजली की समस्या से आराम मिलेगा।

त्वचा से जुडी समस्या में

त्वचा में होने वाले कील-मुहांसों की समस्या आम है। जिसके होने पर लोग परेशान होते ही है। इस समस्या को दूर करने के लिए आप सदाबहार के पौधे का प्रयोग क्र सकते है। जी हां, सदाबहार के फूलों का रस निकालकर उसे आप अपञ्ज त्वचा पर लगा सकते है, इससे आपके चेहरे के कील-मुंहासे की समस्या जड़ से दूर कर सकते है।

हमारा देश शुरू से ही आयुर्वेदिक वस्तुओं का अधिक प्रयोग करने वाला देश है, इसके साथ हमारे देश में ही सबसे ज्यादा औषधियां पायी जाती है। पुराने समय में लोग जब अस्वस्थ होते थे तो यहाँ के लोग आयुर्वेद व जड़ी-बुटियों की मदद से स्वस्थ हो जाया करते थे। आपको बता दे कि आयुर्वेद में इतनी शक्ति होती है कि जो किसी भी प्रकार के बीमारी को पूर्ण रूप से ठीक कर सकती है। इस लिए उस समय आयुर्वेद का काफी महत्व था। लेकिन अब आयुर्वेद का प्रयोग समय के साथ कम हो गया है। यह बात तो हम सभी जानते हैं कि प्रकृति में स्वास्थ्य का खजाना छुपा हुआ है। प्रकृति में कई ऐसी चीजें है, जिनका यदि हम ठीक प्रकार से प्रयोग करे तो इसके इस्तेमाल से बड़ी से बड़ी बीमारियो को ठीक किया जा सकता है। इन से अलावा प्रक्रति में कई ऐसी वस्तुऐ पाई जाती है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी होती है। आज हम आपको इन्हीं में से एक ऐसे पौधे के बारे में बताने जा रहे हैं, जो प्रकृति का दिया हुआ एक बहुत बड़ा वरदान है।

हम बात कर रहे है सदाबहार पौधे की। इस पौधे में कई ऐसे औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो आपके लिए बहुत ही फायदेमंद है। विशेषकर से महिलाओं के लिए तो यह पौधा तो किसी वरदान से कम नहीं। जहां एक तरफ यह पौधा अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। तो वहीं दूसरी तरफ इस पौधे में कई ऐसे गुण पाए जाते हैं, जो कई बीमारियों से आपको निजाद दिला सकते हैं। तो चलिए आपको बताते है कि सदाबहार का पौधा किस तरह से आपके लिए फायदेमंद है।

ब्लडप्रेशर की समस्या में

कई ऐसे लोग है, जिन्हें ब्लड प्रेशर से जुडी बीमारिया है। तो हम आपको बता दे यह पौधा उन लोगो के लिए बहुत ही लाभकारी है। विशेषज्ञो की माने तो सदाबहार के पौधे की जड़ में अज्मलसिने नामक एल्कलॉइड पाया जाता है, जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में सहायक होता है। ऐसे में जो व्यक्तिय हाई ब्लड प्रेशर के शिकार है, वह अगर सदाबहार के पौधे की जड़ को सुबह-सुबह चबाकर खाएं, तो उनको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।

डायबिटीज की समस्या में

सदाबहार के पौधे में एल्कलॉइड, पैंक्रियाज की बीटा जैसे कई तत्व पाए जाते है, जो सेल्स को मजबूत रखने में सहायक होते है, जिसके फलस्वरूप शरीर में इंसुलिन की सही मात्रा बनने लगती है। यदि जो व्यक्ति डायबिटीज की समस्या से परेशान हो तो उसे सदाबहार के पत्ते के रस को पीते रहना चाहिए या इसकी पत्तियों को चबाकर खाने से उनको डायबिटीज में लाभ मिलेगा।

कैंसर की समस्या में

यह एक ऐसी बीमारी है, जिसका इलाज अत्यंत जटिल है। लेकिन आपको हम यह जानकारी दे दे कि सदाबहार पौधे के पत्ते में कैंसर से बचने के लिए कई आवश्यक तत्व पाए जाते हैं। इसकी पत्तियों में विन्क्रिस्टिन और विंब्लास्टिन नामक एंजाइम पाए जाते हैं, जो कैंसर से बचने में सहायक होती हैं। यदि कैंसर के रोगी इसकी पत्तियों की चटनी बना कर रेगुलर सेवन करे तो यह इनके लिए काफी फायदेमंद होगा।

खुजली की समस्या में

यदि आपको खुजली से जुडी समस्या है, तो आप सदाबहार की पत्तियों को पीसकर प्रभावित जगह पर लगा सकते है। ऐसा करने से आपको खुजली की समस्या से आराम मिलेगा।

त्वचा से जुडी समस्या में

त्वचा में होने वाले कील-मुहांसों की समस्या आम है। जिसके होने पर लोग परेशान होते ही है। इस समस्या को दूर करने के लिए आप सदाबहार के पौधे का प्रयोग क्र सकते है। जी हां, सदाबहार के फूलों का रस निकालकर उसे आप अपञ्ज त्वचा पर लगा सकते है, इससे आपके चेहरे के कील-मुंहासे की समस्या जड़ से दूर कर सकते है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper