इस बार का आईपीएल 2008 जैसा, वॉर्न जैसा इतिहास दोहरा पाएंगे विलियमसन?

नई दिल्ली: आईपीएल सीजन-11 का मंच सज चुका है। आज शाम मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में ओपनिंग सेरेमनी के बाद पहला मुकाबला मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच खेला जाएगा। यानी भारतीय टीम के दो कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और रोहित शर्मा आईपीएल की जंग में बतौर कप्तान आज आमने-सामने होंगे। कप्तानी के लिहाज से यह आईपीएल काफी खास है। आईपीएल के मौजूदा सीजन में आठ टीमें हिस्सा ले रही हैं। इनमें चेन्नई सुपरकिंग्स, दिल्ली डेयरडेविल्स, किंग्स इलेवन पंजाब, कोलकाता नाइटराइडर्स, मुंबई इंडियंस, राजस्थान रॉयल्स, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु और सनराइजर्स हैदराबाद शामिल हैं।

इन टीमों के कप्तानों की बात की जाए तो चेन्नई सुपरकिंग्स के एमएस धोनी, दिल्ली डेयरडेविल्स के गौतम गंभीर, किंग्स इलेवन पंजाब के रविचंद्रन अश्विन, कोलकाता नाइटराइडर्स के दिनेश कार्तिक, मुंबई इंडियंस के रोहित शर्मा, राजस्थान के रॉयल्स अजिंक्य रहाणे, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के विराट कोहली और दिलचस्प बात यह है कि इस सीजन के आठ कप्तानों में सिर्फ एक विदेशी है। इकलौते विदेश कप्तान के रूप में न्यूजीलैंड के केन विलियमसन सनराइजर्स हैदराबाद की कमान संभाल रहे हैं। जबकि बाकी सभी सात टीमों के कप्तान भारतीय हैं। आईपीएल टीमों में सिर्फ एक विदेशी कप्तान होने का मौका 10 साल बाद आया है। क्रिकेट का यह महाकुंभ जब 2008 में शुरू हुआ था, तब भी आठ में से एक टीम की कमान ही किसी विदेश प्लेयर के हाथों में थी।

हालांकि, इसके बाद 2016 में भी कुछ इस तरह की तस्वीर उभरी थी, लेकिन दिल्ली डेयरडेविल्स में जहीर खान की जगह जेपी डुमिनी बतौर कप्तान जिम्मेदारी संभालकर एक सीजन में एक से ज्यादा कप्तान होने के रिकॉर्ड में भागीदार बने। इस सीजन में फुल टाइम कप्तान के तौर पर डेविड वॉर्नर सनराइजर्स हैदराबाद की कमान संभाल रहे थे और उनकी टीम ने खिताब जीता था। पहले सीजन में सिर्फ राजस्थान रॉयल्स की कप्तानी विदेशी प्लेयर के पास थी और ऑस्ट्रेलिया के शेन वॉर्न टीम की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। उस वक्त की कमजोर टीम मानी जाने राजस्थान ने शेन वॉर्न के नेतृत्व में आईपीएल का पहला खिताब जीतकर सबको हैरान कर दिया था।

पहले सीजन के बाद आईपीएल में विदेशी खिलाड़ियों का रुझान काफी बढ़ गया। ऑस्ट्रेलिया से लेकर साउथ अफ्रीका जैसी बड़ी टीमों के प्लेयर आईपीएल में आकर खेलने लगे। इस दौरान कुमार संगकारा, महेला जयवर्धने, एडम गिलक्रिस्ट, रिकी पोंटिंग, ब्रैंडम मैक्कुलम, केविन पीटरसन, डेनियल विटोरी, शेन वॉटसन, ग्लेन मैक्सवेल, जॉर्ज बेली, स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर जैसे बड़े अंतराराष्ट्रीय खिलाड़ियों ने आईपीएल में अपनी प्रतिभा का मुजाहिरा किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper