इस महिला ने मंगलसूत्र गिरवी रख कर किया कुछ ऐसा कि अब सब कर रहे हैं तारीफ

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के कारण सारे स्कूल और कॉलेज पिछले चार महीनों से बंद हैं। छात्र टीवी और अन्य ऑनलाइन प्लेटफार्मों से अध्ययन कर रहे हैं। ऐसे में एक महिला को अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए एक टीवी खरीदना पड़ा। लेकिन गरीब होने के कारण उसके पास इतना पैसा नहीं था। अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए महिला ने जो कदम उठाया उसे जानकार आप ताली बजाने लगेंगे। उस महिला ने अपने बच्चों के पढ़ाने के लिए अपने सुहाग की निशानी मंगलसूत्र गिरवी रख दिया था।

महिला ने मंगलसूत्र गिरवी रखने के बाद मिलने वाले पैसे से टीवी खरीदा। यह मामला कर्नाटक राज्य के गदग जिले के नागानार गांव का है। जहां कस्तूरी चालवाड़ी नाम की एक महिला ने अपने 12 ग्राम के सोने के मंगलसूत्र को इसलिए गिरवी रख दिया ताकी उसके बच्चे दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले अध्ययन कार्यक्रम के माध्यम से पढाई कर सके। जब तलाटी को इस बारे में पता चला, तो वह अपने अधिकारियों को गाँव ले गया। इस मामले में जिस व्यक्ति के पास पैसे के लिए मंगलसूत्र गिरवी था, उस व्यक्ति भी महिला को मंगलसूत्र लौटाने के लिए तैयार हो गया। यहां तक उसने ये भी कहा ​​कि जब भी महिला के लिए सुविधाजनक हो तब पैसे वापस कर सकती हैं।

कस्तूरी ने कहा “फ़िलहाल बच्चे घर पर ही बैठे हैं और टेलीविजन देखकर ही पढाई कर रहे हैं। हमारे पास कोई टीवी नहीं था। बच्चे किसी और के घर पर पढ़ने जा रहे थे। बच्चों का भाग्य स्पष्ट नहीं था। किसी ने पैसे नहीं दिए इसलिए मैंने सोचा, मंगलसूत्र गिरवी रखकर टीवी ले लुंगी।” महिला के पति का नाम मुत्तप्पा है और वो एक दिहाड़ी मजदूर के रूप में काम करता है। कोरोना वायरस के कारण काम नहीं मिल रहा था। उसके बच्चे सातवीं और आठवीं में पढ़ रहे हैं। जबकि बेटी की शादी हो चुकी है।

मामला सामने आने के बाद स्थानीय लोगों ने गरीब महिला को टीवी खरीदने में मदद की। इसके लिए एक छोटा सा फंड जुटाया गया था। पूरे मामले के सामने आने के बाद इसमें राजनीतिक टच आ गया। कांग्रेस विधायक जमीर अहमद ने 50,000 रुपये और मंत्री सीसी पाटिल ने परिवार को 20,000 रुपये दान दिए। महिला की बेटी ने कहा, “हमारे शिक्षक टीवी से अध्ययन करने के लिए कहते हैं इसलिए घर में टीवी की आवश्यकता थी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper