इस युवक पर जान छिड़कती हैं महिलाएं, सालभर में बना 23 बच्चों का ‘पिता’

कैनबरा: सिर्फ एक साल में युवक 23 बच्चों का बाप बन गया। सुनने में जरूर यह हैरानीजनक लगता है लेकिन यह सच है। मामला ऑस्ट्रेलिया का है। एलन फान नाम के शख्स ने शुरूआत में शौकिया तौर पर स्पर्म डोनेट करना शुरू किया लेकिन बाद में उसने इसे एक परमानेंट जॉब बना लिया। मामला सुर्खियों में आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। अधिकारियों द्वारा बहुत अधिक बार स्पर्म डोनेट कर संतान पैदा करने की जांच की जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, एलन फान नाम के शख्स के खुद के दो बच्चे हैं। एलन निजी माध्यम के साथ-साथ पंजीकृत प्रजनन क्लीनिक के माध्यम से स्पर्म डोनेट करते हैं। कई क्लीनिकों ने प्राधिकरण को बताया कि फान अपने रजिस्टर्ड क्लिनिकों के अलावा बाहर भी स्पर्म डोनेट कर रहे थे और शायद दूसरों की तुलना में अधिक बच्चे पैदा करने में मदद करते थे। विक्टोरियन कानून के तहत पुरुष केवल अपने सहित दस बार डोनेट दान कर सकते हैं।

फान बताते हैं कि महिलाएं उसकी नस्ल और स्पर्म के हेल्दी होने की वजह से उसे पसंद करती हैं। फान के मुताबिक महिलाओं की दीवानगी इस कदर है कि एक बार तो उसने एक दिन में तीन महिलाओं को स्पर्म डोनेट किए। फान बताते हैं, ‘जब मैंने पहली बार शुरुआत की, तो मैं केवल नौ बार दान करने वाला था लेकिन बाद में मुझे क्रिसमस के आसपास एक महिला का संदेश मिला, जिसमें कहा गया था कि डोनेशर सफल रही जो मेरा दसवां बन गया।

फान बताते हैं, ‘मैंने पहले से ही अपनी सीमा से अधिक स्पर्म डोनेट कर चुका है मैं बस कुछ और मदद करूंगा लेकिन बाद में सिलसिला बढ़ते चला गया। उसके विरुद्ध कुछ फर्टिलिटी क्लिनिक ने कंप्लेंन की थी। उसके खिलाफ शिकायत हुई है कि उसने वैध क्लिनिक से इतर स्पर्म डोनेट किए और तय सीमा से अधिक सन्तान पैदा किए। फिलहाल 40 साल के फान की जांच की जा रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper