इस वैज्ञानिक भविष्यवाणी को नोट कीजिये और भविष्य की तैयारी भी

लखनऊ ट्रिब्यून दिल्ली ब्यूरो: पहले भविष्यवाणी की बात। यह इसलिए जरुरी है कि इस भविष्यवाणी पर वैज्ञानिक समाज भी सहमत होते दिख रहे हैं। अगर ऐसा हुआ तो कहने को कुछ बच नहीं जाता। और अगर इसकी संभावना दिख रही है तो आज की दुनिया को इसके लिए पहले से तैयारी करनी चाहिए। तो भविष्यवाणी यह है कि दुनिया 2030 तक बदल जायेगी। क्या बदलेगी इस पर नजर डालिये –

”2020 में फिर डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के राष्ट्रपति बनेंगे। 2030 में एक मिस्टीरियस फिगर इलाना रेमिकी बनेंगी। मंगल ग्रह पर जाने का सपना 2028 में पूरा होगा। इंसान 2028 में पहुंच मंगल पर पहुंच जाएगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का अधिग्रहण होगा। इंसान गूगल स्टाइल ग्लासिस पहनेंगे, तकनीक अगले लेवल पर पहुंच जाएगी। खतरानाक बीमारी माने जाने वाले कैंसर की दवाई भी आसानी से मिलेगी। बिटकॉइन की पॉपुलेरिटी बढ़ेगी और साथ ही सिक्कों को भी उतनी की तवज्जो दी जाएगी।”

ये भविष्यवाणी नोआ नामक एक व्यक्ति ने की है। उसका दावा है कि वह 2030 से आया है और 2017 में फस गया है। वैज्ञानिक उसकी बात को कबुल करने को तैयार नहीं थे। वैज्ञानिकों ने इसकी जांच करने के लिए लाई डिटेक्टर से उसे गुजरने को कहा। लोआ मान गया और वैसा ही किया जैसा वैज्ञानिक चाह रहे थे।

लोआ की भविष्यवाणी पर वैज्ञानिक समाज चिंतन कर रहा है और लोआ के 2030 से आने की बात को भी मान रहा है। वैज्ञानिकों का मानना है कि ‘टाइम ट्रेवलिंग’ मुमकिन है। इंसान फ्यूचर में जा सकता है। वैज्ञानिक स्टिफन हॉकिंग का भी मानना है कि इंसान भविष्यकाल में जा सकता है।

डेली मेल की खबर के मुताबिक, नोआ ने लाई डिटेक्टर टेस्ट पास कर लिया है। अपेक्स टीवी ने टेस्ट के दौरान का वीडियो भी यूट्यूब पर पोस्ट किया है जो काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो को 17 लाख व्यूज मिले हैं। नोआ का मकसद आज की दुनिया को भविष्य के बारे में बताना है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper