ईरान में अंधविश्‍वास के चलते कोरोना वायरस से बचने पी लिया मेथेनॉल, 728 लोगों की जान गई

तेहरान: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है। ईरान में इस महामारी से बचने के लिए अंधविश्‍वास में आकर नीट अल्‍कोहल पीने से मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। ताजा घटना में जहरीले मेथेनॉल को पीने से 728 लोगों की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि 200 लोगों की अस्‍पताल के बाहर मौत हो गई। इससे पहले भी इसी महीने जहरीली शराब पीने से ईरान में 600 लोगों की मौत हो गई थी।

ईरानी स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में सलाहकार हुसैन हसनैन ने कहा कि इन लोगों ने कोरोना वायरस से बचने के लिए अंधविश्‍वास में आकर यह मेथेनॉल पी लिया। ईरान पिछले साल से अल्‍कोहल पीने की घटनाएं 10 गुना बढ़ गई हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 20 फरवरी से 7 अप्रैल के बीच ईरान में 728 लोगों की मौत हो गई। पिछले साल केवल 66 लोग अल्‍कोहल पीने से मारे गए थे।

हसनैन ने कहा कि ईरान में जहरीली शराब पीने से 90 लोगों की आंखें खराब हो गई हैं। उन्‍होंने कहा कि आंखें खराब होने वालों का अंतिम आंकड़ा बहुत ज्‍यादा हो सकता है। पूरे पश्चिम एशिया में ईरान में कोरोना वायरस से सबसे ज्‍यादा लोग प्रभावित हैं। देश में अब 91 हजार लोग कोरोना वायरस से पॉजिटिव पाए गए हैं और 5806 लोग मारे गए हैं।

ईरान सरकार के न्यायिक प्रवक्ता गुलाम हुसैन एस्मेली ने बताया कि शराब का सेवन कोरोना वायरस का इलाज नहीं है। यह मानव शरीर के बहुत ही घातक है। ईरान के कई राजनेताओं ने इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। सरकारी न्यूज एसेंजी के अनुसार, इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं एक सरकारी प्रवक्ता ने कहा कि ऐसे हालात से ईरानी सरकार कड़ाई से निपटेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper