ई-मेडिटेक इंश्योरेंस टीपीए लिमिटेड को बड़ा झटका

द लखनऊ ट्रिब्यून ब्यूरो: भारतीय बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण ने ई-मेडिटेक इंश्योरेंस टीपीए लिमिटेड के पंजीकरण प्रमाण पत्र निलंबित करने का कड़ा कदम उठाया है। ई-मेडिटेक इंश्योरेंस टीपीए लिमिटेड को 21 मार्च 2002 में इरडा ने लाइसेंस दिया था। कंपनी के खिलाफ 4 सितम्बर 2017 को एक एक व्हिसल ब्लोअर ने शिकायत की थी। व्हिसल ब्लोअर ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया था कि ई-मेडिटेक ने व्हिसल ब्लोअर प्रोटेक्शन एक्ट, 2011 के प्रावधानों का उल्लंघन करते हुए भ्रष्टाचार किया।

उसने कंपनी पर मनी लॉन्ड्रिंग और वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाते हुए इरडा से शिकायत की थी। इस शिकायत के बाद जांच करने में इरडा ने ई-मेडिटेक को दोषी पाया और उसका लाइसेंस रद्द कर दिया। अब कंपनी इंश्योरेंस के सेक्टर में काम नहीं कर सकेगी। ई-मेडिटेक टीपीए के खिलाफ प्राधिकरण ने जांच के दौरान पाया कि यह कंपनी पॉलिसी धारकों के हितों से खिलवाड़ कर रही है। इससे पॉलिसी धारकों को काफी नुकसान हो रहा है। इरडा के इस आदेश के बाद अब कंपनी टीपीए का व्यवसाय करना बंद कर देगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper