उत्तर प्रदेश को जल्द मिलने वाला है एक और नए एक्सप्रेस वे की सौगात,मथुरा से वृंदावन के बीच जल्द बनेगा नया एक्सप्रेसवे

नई दिल्ली: दिल्ली एनसीआर में रहने वाले लोगों के लिए एक बहुत बड़ी खुशखबरी सामने आ रही है। आपको बता दें कि यमुना एक्सप्रेसवे के जरिए मथुरा और वृंदावन जाने के लिए एक नया एक्सप्रेस पर बनाया जाएगा। इस एक्सप्रेस वे के बन जाने से मंदिर में दर्शन के लिए जाने वाले दर्शनार्थियों को आसानी होने लगेगी।

साथ ही नया एक्सप्रेसवे बनने से आने-जाने में वक्त भी कम लगेगा. जेवर एयरपोर्ट तक आने-जाने का वक्त भी कम हो जाएगा। आपको बता दें कि यमुना अथॉरिटी के द्वारा इस एक्सप्रेस-वे को बनाया जाएगा। फिल्म सिटी की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने वाली कंपनी के द्वारा ही इस एक्सप्रेस-वे को बनाया जाएगा।

ड्राफ्ट रिपोर्ट तैयार करने वाली अमेरिकी कंपनी सीबीआरई ने डीपीआर का प्रेजेंटेशन देते हुए बताया कि नए शहर में धार्मिक पर्यटन के साथ-साथ ब्रज की संस्कृति को दिखाया जाए जिससे मथुरा-वृंदावन आने वाले लोग यहां पर आकर रुक सकें। आपको बता दें कि ड्राफ्ट रिपोर्ट बनाते समय कंपनी के द्वारा वियतनाम और मलेशिया का अध्ययन किया गया है। आपको बता दें कि इस नए शहर में हेरिटेज सिटी को 9350 हेक्टेयर में बसाया जाएगा।

तो पहले चरण में 731 हेक्टेयर में टूरिज्म जोन और 110 हेक्टेयर में रिवर फ्रंट विकसित किया जाएगा। आपको बता दें कि बहुत जल्दी यमुना एक्सप्रेसवे के पास वृंदावन हेरिटेज कोरिडोर बनने वाला है। अथॉरिटी हेरिटेज कॉरिडोर को बसाने का काम करेगी। आपको बता दें कि जीप में बैठकर कॉरिडोर में बसे गोकुल नंद गांव और बरसाना को देखने का पर्यटकों को मौका मिलेगा। इन तीनों गांव में राधा कृष्ण की लीला दिखाई जाएंगी और इसे विशेष तरह से सजाया जाएगा।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper