उत्तर प्रदेश में शीत लहर से 40 लोगों की मौत

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में धूप खिलने के बावजूद शीत लहर जारी है। पिछले 24 घंटों में राज्य में ठंड से करीब 40 लोगों के मरने की खबर है। इसके साथ ही ठंढ के कारण राज्य में मरने वालों की संख्या 143 हो गई है। राज्य की राजधानी व आसपास के इलाकों में सुबह तड़के कोहरे के कारण सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ। खराब दृश्यता के कारण दर्जन भर रेलगाड़ियों को रद्द करना पड़ा।

जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर राज्य की राजधानी में स्कूलों की शीतकालीन छुट्टियां एक दिन के लिए बढ़ा दी गई हैं। मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि मंगलवार से कोहरे के कारण हुईं सड़क दुर्घटनाओं में तीन लोगों की मौत हो चुकी है। कई इलाकों में दृश्यता गिरकर 15 से 20 मीटर हो गई है। सरकारी आदेश के बावजूद निजी स्कूल इसका पालन नहीं कर रहे हैं।

कानपुर, फतेहपुर, कन्नौज, पीलीभीत, मुरादाबाद, संभल, अमरोहा, रामपुर, हमीरपुर, आजमगढ़, गाजीपुर और बलिया में मौतें हुई हैं। सरकारी अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने गर्म कंबल, कपड़े, अलाव और रैन बसेरों की व्यवस्था की है। हालांकि राज्य में जारी शीत लहर के कारण ये व्यवस्थाएं कम पड़ रही हैं। क्षेत्रीय मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि कुछ दिनों तक शीत लहर बरकरार रहेगी। स्थिति में सोमवार के बाद ही सुधार होने की संभावना है।

लखनऊ नगर निगम के एक अधिकारी ने कहा कि राजधानी में 700 से अधिक अवारा पशुओं की मौत हुई है। इसमें ज्यादातर कुत्ते और गायें शामिल थे। राज्य में मेरठ 2.9 डिग्री तापमान के साथ सबसे ठंडा स्थान रहा। लखनऊ में तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण शीत लहर का कहर जारी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper