उत्तर भारत के कई राज्यों को मिलेगी गर्मी से राहत, 24 घंटों में हो सकती है बारिश

नई दिल्ली: पिछले कुछ दिनों से झुलसा देने वाली गर्मी से आज लोगों को निजात मिलती दिख रही है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने आज देश के ज्यादातर हिस्सों में आंधी और बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटों में दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, झारखंड, बिहार और पश्चिम बंगाल समेत उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों में आंधी, तूफान के साथ बारिश होने का पूर्वानुमान है।

गुरुवार को मौसम ने करवट बदली और तापमान का पारा नीचे आ जाने से शाम को मौसम सुहाना हो गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने पूर्वानुमान लगाया है कि उत्तर-पश्चिम और मध्य भारत के मैदानी इलाकों में गर्मी शुक्रवार से और कम होगी। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अगले दो दिन तक पश्चिम बंगाल में बारिश और तेज हवाएं चलने का अनुमान जताया।

इस बीच मॉनसून के आहट का भी अहसास होने लगा है। मौसम विभाग ने बताया कि बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवात की स्थिति बनने की वजह से दक्षिण पश्चिम मॉनसून केरल में 1 जून को दस्तक दे सकता है। आमतौर पर भी मॉनसून केरल में एक जून को दस्तक दे देता है। बहरहाल, बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवात की स्थिति बनने के कारण मॉनसून की प्रगति में मदद मिलने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक, 31 मई तक दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत के इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना है। साथ में 30-31 मई को केरल और लक्षद्वीप में भी भारी बारिश हो सकती है।

विभाग ने त्रिपुरा और मिजोरम में अगले 24 घंटे के दौरान भारी बारिश और असम तथा मेघालय में तेज बारिश का पूर्वानुमान जताया है। विभाग ने कहा कि दक्षिण पूर्व और सटे हुए पूर्व मध्य अरब सागर में 31 मई से 4 जून के दौरान कम दबाव का क्षेत्र बन सकता है। यह स्थिति केरल में एक जून को मॉनसून लाने के लिए अनुकूल है। मौसम विभाग के मुताबिक, देश में इस साल सामान्य बारिश होने की संभावना है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper