उप्र में आंधी, बारिश और ओले से 28 लोगों की मौत, सीएम योगी ने किया मुआवजे का ऐलान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में आंधी, बारिश और ओले गिरने से बिजली, पेड़ और दीवार गिर गए ‎जिससे कम से कम 28 लोगों की मौत हो गई। वहीं गेहूं, चना, आलू, मटर और मसूर की 60 फीसदी फसलें खेतों में ही बर्बाद हो गईं। बता दें कि लखीमपुर खीरी और सीतापुर में छह-छह, जौनपुर और बाराबंकी में तीन-तीन, सोनभद्र में दो और वाराणसी, गोरखपुर, सिद्धार्थनगर, अयोध्या, चंदौली, कानपुर देहात, मिर्जापुर और बलरामपुर में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है।

इस बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संबंधित अधिकारियों को बारिश और ओलावृष्टि के कारण हुए हादसों में मारे गए लोगों के परिजन को चार-चार लाख रुपए की सहायता के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि मकान व पशुधन की क्षति के मामलों में भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। जिलाधिकारी स्वयं पर्यवेक्षण करें कि 48 घंटे में पीड़ितों को आर्थिक सहायता प्राप्त हो जाए।

योगी ने यह निर्देश भी दिए हैं कि जिलों के प्रभारी मंत्री प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करें एवं जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर किसानों को प्रदान की जाने वाली आर्थिक सहायता उपलब्ध कराएं। परेशानी की बात ये भी है कि अंधड़, बारिश और ओले का जो दौर शुरु हुआ है वो अगले कई दिनों तक जारी रह सकता है। बीती रात बांदा, गोण्डा, फतेहपुर, पीलीभीत, सीतापुर, बहराइच, अयोध्या, देवरिया और लखनऊ में अंधड़ बारिश का दौर जारी है। इन शहरों में रूक रूककर बारिश हो रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper