उप्र में उपचुनाव की तारीखों का ऐलान क्यों नहीं?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि निर्वाचन आयोग ने राजस्थान के अलवर, अजमेर और बंगाल की उलबेरिया लोकसभा सीटों के उपचुनाव के लिए तारीख का ऐलान किया है। तीनों सीटों पर चुनाव 29 जनवरी को होंगे। लेकिन उप्र के गोरखपुर एवं फूलपुर सीटों के लिए उपचुनाव की घोषणा क्यों नहीं की गई? आयोग फिर सवालों के घेरे में है।

उप्र कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता सुरेंद्र राजपूत ने यहां जारी बयान में कहा कि जिस तरह गुजरात में विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा में निर्वाचन आयोग पर सवाल खड़े हो गए थे, उसी प्रकार इन दोनों सीटों की घोषणा न करने से आयोग पर प्रश्न खड़े हो रहे हैं, जो हमारे लोकतंत्र के लिए और आयोग की निष्पक्षता के लिए कतई ठीक नहीं है।

राजपूत ने कहा कि निर्वाचन आयोग को बताना चाहिए कि आखिर क्या कारण है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की खाली की हुई सीट और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या की खाली की हुई सीट पर चुनाव की घोषणा नहीं हो रही है। क्या कोई राजनीतिक दबाव है? जनता को यह जानने का पूरा हक है। इसी के साथ बिहार की अररिया सीट पर भी चुनाव की घोषणा नहीं की गई है, जबकि ये सभी 6 सीटें लगभग एक समय पर रिक्त हुई थीं।

प्रवक्ता ने मांग की है कि आयोग इन छह सीटों पर उपचुनाव राजस्थान और बंगाल की सीटों के साथ ही कराए, ताकि आयोग की निष्पक्षता पर किसी को संदेह न हो।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper