उमेश अपहरण केस में अतीक समेत तीनों को उम्रकैद की सजा, सौ से ज्यादा गुनाहों में आरोपी अतीक को पहली बार सजा-प्रशांत कुमार


मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। उमेश पाल अपहरण मामले में प्रयागराज की एमपी-एमएलए कोर्ट ने अतीक अहमद समेत तीन दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। साथ ही एक-एक लाख का जुर्माना भी लगाया है। आज ही कोर्ट ने तीनों आरोपियों को दोषी करार दिया था। मामले में अशरफ समेत सात आरोपियों को दोष मुक्त कर दिया था। अतीक अहमद एवं दिनेश पासी को 147, 148, 149, 341, 342, 364अ, 120बी में दोषी करार दिया गया है, जबकि सौलत हनीफ को अन्य धाराओं के साथ 364 में दोषी करार दिया है।

बता दें कि जिस उमेश पाल के अपहरण के मामले में अतीक व दो अन्य को सजा हुई है, पिछले 24 फरवरी को प्रयागराज में दिन-दहाड़े उसकी हत्या कर दी गयी थी। जिसमें अतीक अहमद व उसके भाई अशरफ तथा उसके गिरोह के लोगों पर आरोप लगा है।लखनऊ में एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया आज प्रदेश के मुख्य माफिया अतीक अहमद को पहली बार किसी मामले में सजा सुनाई है। उमेश पाल के अपहरण मामले में आज माननीय न्यायालय ने तीन अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। आजीवन कारावास के साथ 1-1 लाख रुपए का जुर्माना तीनों अभियुक्तों पर लगाया गया है। यह धनराशि पीड़ित परिवार को दी जाएगी।अभियुक्तों में अतीक अहमद, खान शौकत हनीफ और दिनेश पासी शामिल हैं।

इस बीच अतीक के वकील ने कहा है कि अतीक के वे फैसले के विरुद्ध हाई कोर्ट में अपील करेंगे।वकील ने कहा कि जल्द ही अतीक को वापस साबरमती जेल भेजा जायेगा। बता दें कि पूर्व विधायक राजू पाल हत्याकांड का मामला भी एमपी-एमएलए कोर्ट की फ्लोर पर आ गया है जिसमे अशरफ, अतीक व कुछ अन्य आरोपी हैं। इस मामले में अशरफ मुख्य आरोपी है। फिलहाल आज अतीक को प्रयागराज के नैनी जेल में रखा गया है।

अमेश पाल की मां शांति देवी ने कहा कि अपहरण के मामले में अतीक को आजीवन कारावास मिली है। अतीक जेल से कुछ भी करवा सकता है। मेरे बेटे की हत्या के मामले में कोर्ट से उसे फांसी की सजा होनी चाहिए।उन्होंने कहा कि मेरा बेटा शेर की तरह लड़ाई लड़ता चला आया। जब उसे (अतीक अहमद) लगा कि वह नहीं बच पाएगा तब उसने 17-18 साल बाद मेरे बेटे की हत्या कराई। वह नोट के बल पर आगे कुछ भी कर सकता है।उमेश पाल की पत्नी जया देवी ने कहा कि जब तक अतीक, उसके भाई, बेटे को खत्म नहीं किया जाएगा तब तक यह आतंक चलता रहेगा। मैं न्यायपालिका के फैसले का सम्मान करती हूं। मैं मुख्यमंत्री जी से चाहूंगी की अतीक अहमद को खत्म किया जाए जिससे उसके आतंक पर भी अंकुश लगे।अतीक की सजा होने के बाद उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक ने बांदा में कहा कि हमारी सरकार अपराध और अपराधियों का सफाया कर रही है। अदालत में पैरवी की जा रही है। एक-एक अपराधी को कड़ी से कड़ी सज़ा मिलनी चाहिए। पूरे प्रदेश में भयमुक्त वातावरण बना है। हम हर अपराधी को जेल भेजेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper