उम्मीद की नई किरण! भोपाल में पहली बार होम्योपैथिक पद्धति ने दी corona को मात

भोपाल: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही जंग में यह उम्मीद की नई किरण साबित हो सकती है। मध्य प्रदेश के भोपाल में हली बार होम्योपैथिक पद्धति से कोरोना को मात देने में सफलता हासिल हुई है। 13 मई को कोरोना के हल्के लक्षणों के साथ शहर के तीन मरीजों को भर्ती किया गया थाय़ इन सभी मरीजों का इलाज होम्योपैथिक पद्धति से भोपाल के गवर्नमेंट होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में हुआ।

इन सभी मरीजों का 10 दिन बाद परीक्षण किया गया। टेस्ट में सभी मरीज स्वस्थ मिले हैं जिसके बाद आज अस्पताल से सभी की भारत सरकार की नई गाइडलाइन के तहत छुट्टी कर दी गई। होम्योपैथी अस्पताल के डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना के अति मंद लक्षणों वाले मरीजों को प्रचलित दवा हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन के अलावा लक्षणों के आधार पर होम्योपैथी दवाएं देकर उनकी निगरानी की गई।

डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना के फर्स्ट स्टेज में ही इलाज कर कोरोना वायरस को खत्म किया गया है। शासकीय होम्योपैथी अस्पताल की अधीक्षक डॉ. सुनीता तोमर का कहना है कि शासन से मिले निर्देशों के आधार पर कोरोना के हल्के लक्षण वाले पेशेंट्स को होम्योपैथिक से ट्रीटमेंट दिया गया जिससे सभी मरीज अब स्वस्थ्य हो चुके हैं और पूरी तरह ठीक होने के बाद आज उनकी घर वापसी हुई।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper