उलझती जा रही है है रोहित की मौत की गुत्थी, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

देहरादून: उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मौत की गुत्थी उलझती जा रही है. एक तरफ उनकी मां उज्जवला कहती हैं कि उनके बेटे की मौत स्वाभाविक हुई है, उन्हें किसी पर साजिश का शक नहीं है तो वहीं दूसरी तरफ पोस्टमार्टम रिपोर्ट से कुछ और ही चौंकाने वाला खुलासा होता है. इतना ही नहीं मरने से कुछ घंटे पहले ही शेखर पत्रकारों और अपनी भाभी को फोन लगाकर कुछ बताना भी चाह रहे थे लेकिन किसी कारण ना ही पत्रकार और ना ही उनकी भाभी फोन उठा पाईं, क्योंकि रोहित ने पत्रकारों को काफी रात में लगाया और भाभी को सुबह चार बजे लगाया था. ऐसे कई सारे सबूत मिले हैं जो रोहित की मौत की साजिश किये जाने की तरफ इशारा कर रहे हैं.

अभी खुलासा नहीं हुआ है कि रोहित की मौत के वक्त उनकी पत्नी और मां कहां थी. खबरों से तो यही पता चला है कि रोहित दिल्ली आवास में अपनी अपनी पत्नी अपूर्वा और कजिन भाई पप्पू और उनकी पत्नी कुमकुम के साथ रहते थे. जब रोहित मरने से पहले उत्तराखंड में अपने परिवार के साथ वोट डालने गये. वोट डालने के काफी देर बाद वो करीब 11 बजे दिल्ली पहुंचे था जहां वो खाना खाकर सोने चले गये थे. रोहित लेट उठने की आदत थी उस दिन जब वो 1 बजे तक नहीं उठे तो उनकी पत्नी अपूर्वा ने नौकर को उन्हें उठाने को कहा.

नौकर जैसे ही रोहित के कमरे में पहुंचा वहां रोहित बेहोश पड़े थे, उनकी नाक से खून निकल रहा था. साथ ही उनके तकिये पर खून लगा था जो सूख चुका था. इसका मतलब था कि रोहित की मौत को कुछ समय बीत चुका था. हैरानी की बात तो ये कि रोहित की मौत के तीन दिन तक उनकी रहस्मीय मौत का पर्दाफाश नहीं हुआ जब एम्स हॉस्पिटल से पोस्टमार्ट रिपोर्ट आईं तो पता चला कि रोहित को गला दबाकर मारा गया. मुंह एवं नाक बंद करने के चलते दम घुटने से उनकी मौत हो गई.

आपको बता दें, रोहित का जीवन शुरु से ही मुश्किलों में रहा है. रोहित ने कोर्ट में साबित किया था कि वो एनडी तिवारी के नाजायज़ बेटा है. रोहित शेखर ने इस लड़ाई में जीत हासिल की थी. उन्होंने और उनकी मां उज्जवला ने एनडी तिवारी के खिलाफ खून टेस्ट करवाने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. कोर्ट के आदेश के बाद एनडी तिवारी ब्लड सैंपल दिया. जिसके बाद एनडी तिवारी को 89 की उम्र रोहित की मां उज्जलवा से शादी करनी पड़ी थी.

शादी के बाद रोहित अपने पिता के साथ रहने लगे थे. वहीं एनडी तिवारी भी रोहित को बहुत प्यार करने लगे थे. यहां तक रोहित की शादी के वक्त एनडी तिवारी की तबियत बहुत ज्यादा खराब होने लगी थी तब रोहित और उनकी पत्नी अपूर्वा पिता का आर्शीवाद लेने अस्पताल पहुंचे थे. एक साल पहले उन्होंने इंदौर की अपूर्वा शुक्ला से शादी की थी, जो सुप्रीम कोर्ट में वकालत करती हैं, रोहित की शादी के बाद ही उनके पिता एनडी तिवारी का निधन भी हो गया था.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper