ऋतिक और सुजैन की बॉंडिंग देख नहीं लगता कि हुआ है तलाक

मुंबई: सिने सितारों की जोड़ियों के टूटने का सिलसिला बहुत पुराना है, लेकिन जब बात ऋतिक और सुजैन की आती है तो सभी हैरान रह जाते हैं। दरअसल तलाक के बावजूद इन दोंनो के बीच जो बॉंडिंग देखने को मिलती है वह कहीं और नहीं देखी जा सकती है। यहां यह बात इसलिए की जा रही है क्योंकि शुक्रवार 26 अक्टूबर को सुजैन का जन्मदिन था। एक्टर संजय खान की बेटी सुजैन खान अब ऋतिक रोशन की एक्स-वाइफ कहलाती हैं, क्योंकि दोनों के बीच सब कुछ ठीक ठाक नहीं चल रहा था जिस कारण 2014 में तलाक हुआ।

इसके बाद समझा जा रहा था कि अन्य बिछड़ी जोड़ियों की ही तरह ये दोनों भी एक दूसरे को देखना पसंद नहीं करेंगे। लेकिन पेशे से इंटीरियर डिजाइनर सुजैन ने अपने बच्चों की जिंदगी का हवाला देते हुए जो कहा उससे सभी की आंखें खुल गईं। दरअसल उन्होंने कहा था कि वो भले रिश्ते में नहीं हैं, लेकिन बच्चों की खातिर एक अच्छे दोस्त की तरह ही रहेंगे। यही वजह है कि तलाक के बावजूद दोनों में कभी मनमुटाव देखने को नहीं मिला। यही नहीं बल्कि जब जब ऋतिक मुश्किल में आए सुजैन ने आगे बढ़कर उनका साथ भी दिया। कंगना और ऋतिक का मामला सुर्खियों में आने के बाद सुजैन ने ऋतिक के सपोर्ट में बयान दिया था, जिससे सभी हैरान थे।

इसके बाद तो अनेक बार दोनों को एक साथ साथ स्पॉट किया गया। खास बात यह रही कि दोनों ही अपने बच्चों के साथ छुट्ट‍ियों पर जाते और उन्हें पूरा समय देते नजर आए हैं। इस प्रकार कहा जाए तो इस जोड़ी के असली सूत्रधार उनके बच्चे ही हैं। इस बॉंडिंग को देखते हुए लोग पूछते हैं कि क्या सुजैन और ऋतिक एक बार फिर शादी के बंधन में बंधेंगे और साथ रहने लगेंगे? अब यह होगा या नहीं वह तो कोई नहीं जानता, लेकिन खुशी के मौके पर तो दोनों एक साथ नजर आ ही रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper