एएमयू और जामिया में दलित आरक्षण की बात क्यों नहीं करता विपक्ष : योगी

लखनऊ: आरक्षण को लेकर विपक्ष पर हमला बोलते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा जो लोग दलितों की बराबरी की बात करते हैं, वे अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) और जामिया मिलिया इस्लामिया में उनके आरक्षण की वकालत क्यों नही करते? इसके साथ ही योगी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी निशाने पर लिया।

उन्होंने कहा जब कहीं चुनाव होते हैं, तब राहुल गांधी को मंदिर और जनेऊ की याद आती है। राहुल गांधी की चार पीढ़ियां मंदिर नबीं गईं। न ही उनकी चार पीढ़ियों ने कभी जनेऊ पहना है। राहुल गांधी अब यह दिखाने मंदिरों में जाते हैं कि मैं हिन्दू हूं। मंदिर दिखावे के लिए नही श्रद्धा के लिए जाया जाता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ गरीब जनता तक पहुंच रहा है। वर्तमान सरकार जाति, वर्ग, मजहब के लिए नहीं बल्कि गरीब जनता के हित के लिए काम कर रही है। पिछले चार सालों के दौरान भारत सरकार की लगभग 100 योजनाओं को संचालित कर गरीब जनता को लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने यह विचार कन्नौज में स्वर्गीय राम प्रकाश त्रिपाठी की 10वीं पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए। इस अवसर पर उन्होंने राम प्रकाश त्रिपाठी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और भगवान गौतम बुद्ध की मूर्ति का अनावरण किया। साथ ही मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया।

सीएम ने खनन, मद्यनिषेध एवं आबकारी राज्यमंत्री अर्चना पांडेय की भी खूब प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि एक पुत्री ने जिस कर्मठता और मजबूती के साथ अपने पिता राम प्रकाश त्रिपाठी की विरासत को नई ऊंचाइयों की ओर पहुंचाया है, उससे सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए। बेटा हो या बेटी अगर कोई भेदभाव न हो तो बेटी भी भरपूर सम्भावनाओं को जन्म दे सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper