एएमयू से भागा आतंकवादी वानी मुठभेड़ में मारा गया

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में बृहस्पतिवार को घेराबंदी और तलाशी अभियान के दौरान सुरक्षा बलों एवं आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में पीएचडी शोधार्थी से आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर बने मन्नान वानी समेत दो आतंकवादी ढेर हो गये।अलीगढ़ मुस्लिम विविद्यालय (एएमयू) के पीएचडी शोधार्थी रहे वानी के मारे जाने के विरोध में कुपवाड़ा और बारामूला जिलों में तत्काल बंद का आयोजन किया गया।

अलगाववादी नेताओं ने भी वानी और अन्य आतंकवादियों के मारे जाने के विरोध में शुक्रवार को हड़ताल का आह्वान किया है। जिला प्रशासन ने कुपवाड़ा में मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी है।आतंकवादियों के छिपे होने की खुफिया सूचना के बाद सेना, जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों ने तड़के 2.30 पर उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के शतगुंड हंदवाड़ा गांव में साझा तलाशी अभियान शुरू किया था।

भगवान ऐसा बेटा किसी को ना दे, मां-बाप और बहन को मार डाला

जब सभी मागरे को सील करके सुरक्षा बलों के जवान गांव में विशेष क्षेत्र की ओर बढ़ रहे थे, तब वहां छिपे आतंकवादियों ने उन पर गोलियां चलानी शुरू कर दीं। सुरक्षा बलों ने भी इसका जोरदार जवाब दिया। गोलीबारी में दो आतंकवादी मारे गए। मारे गये दोनों आतंकवादियों की पहचान मन्नान वानी और अशिक के रूप में की गई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper