एएसआई की संरक्षित सूची में शामिल हुआ ‘नौबत खाना’

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के बड़ा इमामबाड़ा परिसर में स्थित नौबत खाना या नक्कार खाना भारतीय पुरातžव सर्वेक्षण (एएसआई) की संरक्षित सूची में शामिल हो गया है। एएसआई ने इस संबंध में अधिसूचना जारी की है। शहर के कई अन्य विरासत स्मारकों के साथ बड़ा इमामबाड़ा पहले से इस सूची में शामिल है।

नौबत खाना इमामबाड़े के सामने बना है और इमामबाड़ा परिसर का हिस्सा है। इसे नगाड़ा बजाने वालों के लिए बनाया गया था जो नगाड़ा बजाकर समय की सूचना देते थे और नवाब के दरबार में आने वाले विशिष्ट अतिथियों का स्वागत भी करते थे। बड़ा इमामबाड़ा 1920 से ही एएसआई की संरक्षित सूची में शामिल है, लेकिन नौबत खाना को संरक्षित सूची से बाहर रखने के कारण यहां बड़े पैमाने पर अतिक्रमण हो गया था।

वकील मोहम्मद हैदर ने बताया, उपेक्षा और प्रशासनिक उदासीनता के कारण यह स्मारक भारी अतिक्रमण का शिकार है। अतिक्रमणकारी इस संरक्षित स्मारक के भीतर रह रहे हैं जिससे इसे अपूर्णीय क्षति हो रही है और इसका अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। यहां तक कि भारतीय पुरातžव संरक्षण ने भी नौबत खाने के अंदर अपना कार्यालय खोल लिया है जो संरक्षक की ओर से किया गया बेहद खेदपूर्ण कार्य है।

नौबत खाने के एक हिस्से को सार्वजनिक शौचालय बना दिया गया है जो नियम का स्पष्ट उल्लंघन है। संरक्षित स्मारक का दर्जा मिल जाने के बाद इसके जीर्णोद्धार की उम्मीद है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
E-Paper