क्या है कोरोना वायरस के लक्षण और कैसे करें बचाव?

कोरोना वायरस ने लगभग पूरी दुनिया में अब अपने पांव पसार लिये हैं। इसके संक्रमण की चपेट में लाखों लोग आ चुके हैं, जबकि अब तक इसकी वजह से 6 हजार से भी अधिक लोगों की जान चली गई है। कोरोनावायरस की गंभीरता को ही देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से इसे महामारी भी घोषित कर दिया गया है। जिस तरह से इस महामारी ने भारत में भी दस्तक दे दी है और यहां भी अब तक तीन लोगों की इसकी वजह से जान चली गई है, वैसे ही यह बहुत जरूरी है कि आप कोरोनावायरस के लक्षणों और इससे बचाव के तरीकों से अवगत रहें। यहां हम आपको इनके बारे में विस्तार से जानकारी उपलब्ध करा रहे हैं।

कैसे फैलता है कोरोनावायरस?
जो व्यक्ति कोरोनावायरस के संक्रमण में है, जब वह खांसता या छींकता है तो बारीक कण जो उसके थूक से निकलते हैं, वे आसपास की हवा में फैल जाते हैं। कोरोनावायरस के विषाणुओं की इसमें मौजूदगी होती है। जब कोई और व्यक्ति इस संक्रमित व्यक्ति के करीब जाता है तो ये विषाणु सांस लेने के रास्ते उसके शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और वह व्यक्ति भी इसके संक्रमण का शिकार हो जाता है। साथ ही जहां भी इसके कण गिरे हैं, यदि आप उस जगह को अपने हाथों से छू लेते हैं और फिर उसी हाथ से अपनी आंख, नाक या मुंह को स्पर्श करते हैं तो आपको शरीर में इन कणों का प्रवेश हो जाता है। इसलिए यह जरूरी है कि जब भी आपको खांसी या छींक आ रही हो तो आप साफ कपड़े या रुमाल या फिर टिश्यू का प्रयोग जरूर करें। यही नहीं, बिना हाथों को धोए अपने चेहरे को छूने से भी आपको बचना चाहिए। मास्क पहनने से चिकित्सकों के मुताबिक आपको कोई विशेष लाभ नहीं मिलने वाला है।

क्या हैं कोरोना वायरस के लक्षण?
सबसे पहले तो इसके संक्रमण की वजह से बुखार आता है, क्योंकि यह फेफड़ों को संक्रमित करता है। इसके बाद सूखी खांसी भी शुरू हो जाती है और फिर सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। करीब पांच दिन लगते हैं इसके लक्षण दिखने में। विश्व स्वास्थ्य संगठन का तो इसके बारे में कहना है कि वायरस के शरीर में दाखिल होने और इसके लक्षण दिखने के बीच में करीब 14 दिनों का फासला हो सकता है। कई शोधकर्ताओं ने तो इसे 24 दिन भी बताया है। इसके बारे में जानकारों का मानना है कि व्यक्ति जब बीमार न पड़ा हो, उससे पहले भी यह वायरस उसके शरीर में फैल सकता है। शुरुआती लक्षण कोरोनावायरस के सर्दी और फ्लू है, जिसकी वजह से लोग भ्रमित भी हो जाते हैं।

कोरोना वायरस से कैसे बचें?
आपको हमेशा साबुन और पानी से अपने हाथ धोते रहने चाहिए। यह संभव न हो तो सैनिटाइजर को प्रयोग में आपको लाना चाहिए। जब खांसी आ रही है या फिर छींक रहे हैं तो रुमाल या टिश्यू का इस्तेमाल जरूर करें। जिस टिश्यू को आपने इस्तेमाल किया है, उसे अपने हाथों से आप फेंक दीजिए और फिर अपने हाथों को अच्छी तरह से धो भी लीजिए। टिश्यू या रुमाल यदि आपके पास नहीं है तो अपनी बाजू का इस्तेमाल करना चाहिए। बिना अपने हाथों को धोए अपनी आंख, नाक और मुंह को छूने से बचें। जो व्यक्ति बीमार हैं, बेहतर होगा कि आप उनके करीब न जाएं।

कोरोना वायरस का शक यदि है तो क्या करें?
यदि आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि आप कोरोनावायरस के संक्रमण की जद में आ गये हैं तो आपको डाॅक्टर, अस्पताल या किसी फार्मेसी में जाने से बचना चाहिए। इसके बारे में आपको या तो अपने इलाके में मौजूद किसी स्वास्थ्यकर्मी से मोबाइल फोन या ऑनलाइन जानकारी लेनी चाहिए या फिर सरकार की ओर से जारी किये गये हेल्पलाइन नंबर पर मदद मांगनी चाहिए। साथ ही अपने घर में आप बाकी सदस्यों से इस दौरान दूरी बनाकर रखें। स्थानीय स्वास्थ्य टीमों के पास इसके बाद आपके बारे में जानकारी भेजी जा सकती है। इसके बाद कोविड 19 वायरस यानी कि कोरोनावायरस की चपेट में आप हैं या नहीं, इसकी जांच आपकी होगी। इसके बाद और कोई जरूरत पड़ने पर आपको क्या करना चाहिए, इसके बारे में आपको जानकारी नर्स या डाॅक्टर से मिल जायेगी। सावधानी ही इस मामले में केवल बचाव है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper