‘एक दो तीन’ गाने पर ट्रोल हुईं जैकलीन, बताया माधुरी की बेइज्जती

मुंबई: हाल ही में माधुरी दीक्षित के आइकॉनिक सॉन्ग ‘एक दो तीन’ का नया वर्जन रिलीज किया गया है। इसमें मोहिनी बनकर जैकलीन फर्नांडीज थिरकती दिखाई दे रही हैं। यह गाना एक्शन थ्रिलर फिल्म बागी-2 में फिल्माया गया है। गाने में जैकलीन की माधुरी से तुलना करते हुए उन्हें जम कर ट्राल किया गया है।

लोगों को जैकलीन का मोहिनी अंदाज बिल्कुल नहीं भाया। माधुरी के प्रशंसकों ने इसे डांसिंग क्वीन की बेइज्जती बताया है। सोशल मीडिया पर जैकलीन पर फिल्माए गए इस गाने की काफी आलोचना हो रही है। माधुरी के प्रशंसकों को जैकलीन के डांस मूव्ज बिल्कुल पसंद नहीं आ रहे हैं। उनका कहना है कि फिल्म निर्माताओं ने इस आइकॉनिक सॉन्ग को फिर से फिल्मा कर इसे बर्बाद कर दिया है।

बीते तीन सालों में 50 गानों को फिर से फिल्माया गया है। इनमें से अधिकांश बहुत लोकप्रिय हुए हैं, लेकिन जैकलीन के ‘एक दो तीन’ वर्जन को सबसे बकवास बता रहे हैं। ट्विटर पर कई तरह के कमेंट्स देखने को मिल रहे हैं। एक यूजर ने लिखा- धक-धक गर्ल के एक्सप्रेशन को कोई मात नहीं दे सकता। न असली मोहिनी की जगह ले सकता है। कई यूजर्स ने इस गाने को माधुरी दीक्षित की बेइज्जती करना बताया है। कई लोगों ने सवाल किया कि फिल्म निर्माता क्यों इस आइकॉनिक सॉन्ग को बर्बाद करने पर उतर आए हैं।

एक दो तीन गाने में डांस मूव्स से ज्यादा जैकलीन की बोल्ड अदाओं और एब्स पर ध्यान गया है। इसके अलावा जैकलीन की तुलना अगर माधुरी के इस गाने पर परफॉर्मेंस से की जाए तो माधुरी के एक्सप्रेशन के आगे जैकलीन की बोल्ड अदाएं फीकी नजर आती हैं। एक इंटरव्यू में जैकलीन ने कहा था, ‘माधुरी जैसी लीजेंड के सॉन्ग पर दोबारा से डांस करना मेरे लिए सबसे बड़ी स्ट्रेस की वजह है। हम पुराने सॉन्ग के साथ मैच करने की कोशिश बिल्कुल नहीं कर रहे हैं। माधुरी जैसा परफॉर्म कोई नहीं कर सकता।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper