एग्जिट पोल्स ने बताया किधर गए मायावती के वोटर्स, कितने रहे BSP के साथ?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में सातों चरण की वोटिंग के बाद सोमवार शाम एग्जिट पोल्स ने जहां एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए खुशखबरी के संकेत दिए हैं तो 2017 के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन के बावजूद सपा सत्ता से दूर दिख रही है। अधिकतर एग्जिट पोल्स में दावा किया गया है कि एक बार फिर योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा को पूर्ण बहुमत मिलने जा रहा है तो वहीं सपा गठबंधन 47 सीटों से बढ़कर करीब 150 सीटों तक बढ़ता दिख रहा है। हालांकि, बसपा और कांग्रेस की इस चुनाव में भी दुर्गति होने का अनुमान है। बसपा का वोटशेयर भी काफी घट जाने की भविष्यवाणी की गई है।

चुनाव प्रचार अभियान में हाथी की सुस्ती के बाद से ही यह बड़ा सवाल उठने लगा था कि मायावती के रेस में नहीं दिखने से क्या उनके वोटर्स कहीं और शिफ्ट होंगे? और यदि हां तो किधर जाएंगे? एग्जिट पोल्स के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि हाथी की सवारी छोड़ने वाले अधिकतर वोटर्स साइकिल पर बैठे हैं।

सर्वे कहता है कि इस बार भाजपा को 39 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है, जबकि 2017 के चुनाव में भी पार्टी को लगभग इतना ही (39.7 फीसदी) वोट शेयर मिला था। वहीं, सपा को 34 फीसदी वोट शेयर मिलने का अनुमान लगाया गया है, जबकि अखिलेश यादव पिछले चुनाव में पार्टी को 22.2 फीसदी वोट ही मिले थे। इस लिहाज से देखें तो सपा को इस बार 12 फीसदी अधिक वोट शेयर मिला है, जोकि एक बड़ा उछाल है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper