एचडीएफसी लाइफ की नयी पेशकश – क्लिक 2 प्रोटेक्ट लाइफ

जनवरी: भारत के प्रमुख जीवन बीमाकर्ताओं में से एक, एचडीएफसी लाइफ, ने अपना नया फ्लैगशिप टर्म प्रॉडक्ट क्लिक 2 प्रोटेक्ट लाइफ लॉन्च किया है। यह नॉन-लिंक्ड, नॉन-पार्टिसिपेटिंग, इंडिविजुअल टर्म प्लान किसी व्यक्ति के जीवन के विभिन्न चरणों की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए तैयार किया गया है।
चल रही वैश्विक महामारी ने एक प्रॉडक्ट केटेगरी के रूप में जीवन बीमा के प्रति व्यक्तियों के दृष्टिकोण में बदलाव लाया है। टर्म इंश्योरेंस हर वित्तीय योजना का एक महत्वपूर्ण घटक बन गया है।

एचडीएफसी लाइफ के क्लिक 2 प्रोटेक्ट लाइफ में तीन मुख्य ऑप्शन हैं:

1. जीवन और गंभीर बीमारी ऑटो-बैलेंस: एक स्मार्ट कवर जो बढ़ती उम्र के साथ होने वाली गंभीर बीमारी (सीआई) और मृत्यु से ऑटो बैलेंस लाइफ सुरक्षा और सीआई कवर प्रदान करता है। इस ऑप्शन में, प्रत्येक पॉलिसी एनिवर्सरी पर गंभीर बीमारी कवर आनुपातिक रूप से बढ़ जाता है, जबकि जीवन कवर कम हो जाता है। इसके अलावा, सूचीबद्ध 36 सीआई स्थितियों में से किसी के होने पर, न केवल एश्योर्ड बढ़ी हुई सीआई राशि का भुगतान किया जाता है, बल्कि भविष्य के सभी प्रीमियमों को भी माफ कर दिया जाता है और लाइफ कवर जारी रहता है। पॉलिसी की शुरुआत में, एश्योर्ड मूल बीमा राशि 80:20 अनुपात में लाइफ कवर और गंभीर बीमारी कवर के बीच विभाजित होती है। संपूर्ण पॉलिसी में कुल एश्योर्ड मूल राशि जो थी, वही बनी रहती है। इस योजना के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि प्रत्येक पॉलिसी एनिवर्सरी पर बढ़ते सीआई कवर के बावजूद, पूरी पॉलिसी अवधि में ग्राहक के लिए प्रीमियम अपरिवर्तित रहता है।

2. जीवन रक्षा ऑप्शन: यह ऑप्शन पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु होने पर कवरेज प्रदान करके एश्योर्ड लाइफ के परिवार को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। एश्योर्ड लाइफ की मृत्यु की स्थिति में नामित व्यक्ति को एक मुश्त राशि प्रदान की जाती है। यह कवर निश्चित अवधि के लिए या पूरे जीवन के लिए लिया जा सकता है।

3. इन्कम प्लस ऑप्शन: यह ऑप्शन 60 वर्ष की आयु से नियमित रूप से मासिक आय प्रदान करता है, जबकि आश्रितों की वित्तीय सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु पर कवर प्रदान करता है। एश्योर्ड लाइफ को पूरी पॉलिसी अवधि के लिए कवर किया जाता है और उसे 60 वर्ष की आयु से मासिक आय मिलना शुरू हो जाती है, और मृत्यु होने तक या पॉलिसी की परिपक्वता तक, जो भी पहले हो, जारी रहती है। नामित व्यक्ति को देय मृत्यु लाभ, मृत्यु तक भुगतान की जाने वाली मासिक आय में कटौती के बाद मिलेगा। इस योजना में कोई व्यक्ति पूरे लाइफ कवर का ऑप्शन भी चुन सकता है।
यह ऑप्शन जीवन बीमा उद्योग में एक अनूठा प्रस्ताव है क्योंकि यह लाइफ कवर के साथ नियमित पेंशन प्रदान करता है।

सभी ऑप्शन में फिक्स्ड और संपूर्ण लाइफ कवर दोनों शामिल हैं।
प्री-डिस्क्लोज्ड शर्तों के अनुसार, कुछ ऑप्शन के लिए रिटर्न-ऑन प्रीमियम, सीआई पर प्रीमियम की छूट, आकस्मिक मृत्यु लाभ और प्रीमियम भुगतान आवृत्ति परिवर्तन जैसी सुविधाएँ उपलब्ध हैं।

लॉन्च के अवसर पर, श्रीनिवासन पार्थसारथी – चीफ एक्चुअरी एवं अपॉइंटेड एक्चुअरी ने बताया कि “वैश्विक महामारी ने हर व्यक्ति को वित्तीय सुरक्षा की आवश्यकता के बारे में जागरूक किया है। समय और बदलती जीवन शैली के साथ वित्तीय सुरक्षा में बदलाव आया है और वह कुछ साल पहले जैसी नहीं रही। ग्राहक इनपुट और हमारे शोध निष्कर्षों के आधार पर, हमने एक ऐसा प्रॉडक्ट तैयार किया है जो किसी व्यक्ति के बदलते जीवन की जरूरतों को पूरा करता है।
इस योजना में तीन ऑप्शन हैं, और प्रत्येक में अद्वितीय ऑफर उपलब्ध है। विशेष रूप से इन्कम प्लस ऑप्शन जो 60 वर्ष की आयु के बाद व्यक्तियों के लिए नियमित आय के साधन के रूप में काम करता है। कोई भी व्यक्ति अपनी आवश्यकताओं के अनुरूप अपने लिए सबसे उपयुक्त ऑप्शन चुन सकता है। हमारा मानना है कि ग्राहक प्रॉडक्टवैल्यू देखेंगे और इसका उपयोग अपने और अपने परिवार को सुरक्षित करने के लिए करेंगे।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper