एनआरआई प्रोफेसर को आइंस्टीन पुरस्कार

लखनऊ: गुरुत्वाकर्षण विज्ञान पर काम करने वाले भारतीय मूल के अमेरिकी प्रोफेसर अभय अष्टेकर को 2018 के आइंस्टीन पुरस्कार से नवाजा जाएगा। अमेरिकन फिजिकल सोसाइटी (एपीएस) उन्हें पुरस्कार के तौर पर 10,000 अमेरिकी डॉलर की राशि के साथ एक प्रशस्ति पत्र भी प्रदान करेगी। अष्टेकर भौतिकी के प्रोफेसर हैं। वह एवरली चेयर होल्डर और पेंसिलवेनिया में इंस्टीट्यूट फॉर ग्रेविटेशन एंड कॉस्मॉस के डायरेक्टर भी हैं।

अष्टेकर जब भारत में हाईस्कूल में पढ़ते थे, तभी से विज्ञान में उनकी गहरी अभिरुचि थी। पहले वह सिर्फ मराठी साहित्य ही जानते थे, लेकिन 12वीं कक्षा से उनका परिचय हिंदी और अंग्रेजी साहित्य से हुआ। उन्होंने उसी समय न्यूटन का नियम और गुरुत्वाकर्षण का सार्वत्रिक सिद्धांत सीखा। अष्टेकर ने 1974 में शिकागो यूनिवर्सिटी से पीएचडी की। वह फ्रांस, कनाडा और भारत में महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper