एनसीएल ने एक माह पूर्व हासिल किया वार्षिक कोयला प्रेषण का लक्ष्य

सिंगरौली,नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए निर्धारित 122 मिलियन टन कोयला प्रेषण (डिस्पैच) का लक्ष्य सोमवार को पार कर लिया है। एनसीएल ने 122 मिलियन टन के लक्ष्य के सापेक्ष 27 फरवरी तक 7.1% की बेहतरीन वार्षिक बढ़त के साथ 122.1 मिलियन टन कोयला अपने ग्राहकों को भेज कर इस अभूतपूर्व उपलब्धि को निर्धारित समय से एक माह पूर्व ही हासिल कर लिया है।

एनसीएल की इस शानदार उपलब्धि के लिए कंपनी के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक (सीएमडी) श्री भोला सिंह, एनसीएल के निदेशक (तकनीकी/संचालन) डॉ अनिंद्य सिन्हा, निदेशक(कार्मिक) श्री मनीष कुमार, निदेशक(वित्त) श्री रजनीश नारायण, निदेशक(तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री जितेंद्र मलिक ने टीम एनसीएल को हार्दिक बधाई दी है और कहा है कि अपने कर्मियों की लगन, निष्ठा, परिश्रम एवं कार्य के प्रति समर्पण की बदौलत एनसीएल ने अधिभार के बाद कोयला प्रेषण का वार्षिक लक्ष्य भी समय रहते हासिल किया है ।

एनसीएल का कोयला प्रेषण में यह उम्दा प्रदर्शन देश की बढ़ती हुई ऊर्जा जरूरतों के आलोक में महत्वपूर्ण है। एनसीएल ने वित्तीय वर्ष 2022-23 में बिजली घरों को सोमवार तक 109.48 मिलियन टन कोयला प्रेषित किया है, जो कुल प्रेषण का लगभग 90% है।

उल्लेखनीय है कि एनसीएल के 10 कोयला क्षेत्रों में से 05 कोयला क्षेत्रों ने भी वित्त वर्ष 2022-23 के लिए निर्धारित अपने कोयला प्रेषण लक्ष्यों को समय से पहले ही प्राप्त कर लिए हैं। इन कोयला क्षेत्रों में कृष्णशिला, झिंगुरदा, ककरी, जयंत और निगाही शामिल हैं।

एनसीएल कोयला उत्पादन में भी अव्वल प्रदर्शन कर रही है और सोमवार तक 122 मिलियन टन उत्पादन लक्ष्य के सापेक्ष 8.80% की शानदार वार्षिक वृद्धि के साथ 119.14 मिलियन टन उत्पादन कर लिया है ।

गौरतलब है कि एनसीएल को वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 122 मिलियन टन कोयला उत्पादन एवं प्रेषण के लक्ष्य दिये गए हैं । एनसीएल को वर्ष 2022-23 में 410 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिभार हटाने का लक्ष्य दिया गया था। एनसीएल ने अपने कर्मियों की मेहनत व परिश्रम के बदौलत पहले ही गत 22 फरवरी 2023 को इसे हासिल कर लिया था ।

रवीन्द्र केसरी सोनभद्र

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
-----------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper