एमएसएमई को बढ़ावा देने के लिए वर्चुअल इंटरएक्टिव सत्र का आयोजन

लखनऊ: पी एच डी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (PHDCCI) के उत्तर प्रदेश चैप्टर ने सिद्धार्थ नाथ सिंह, माननीय कैबिनेट मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के साथ 7 मई 2021 को दोपहर 12 बजे से दोपहर 1:30 बजे एक वर्चुअल इंटरएक्टिव सत्र आयोजित किया। वेबिनार का उद्देश्य एमएसएमई को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न योजनाओं और सुविधाओं का प्रसार और चर्चा करना था।

सिद्धार्थ नाथ सिंह माननीय कैबिनेट मंत्री – सूक्ष्म लघु और मध्यम, उद्यम निवेश और निर्यात एनआरआई, सेरीकल्चर कपड़ा और हैंडलूम खादी और ग्रामोद्योग उत्तर प्रदेश सरकार ने कहा वर्तमान काल में कुछ हट के सोचने की जरुरत है साथ ही साथ हमें समाधान कि ओर ज्यादा से ज्यादा काम करना चाहिए । उन्होंने यह भी कहा उत्तर प्रदेश सरकार अतिशीघ्र ऑक्सीजन पालिसी भी लाने वाली है। उन्होंने कहा कि पी एच डी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री से उम्मीद है कि वह सरकार को टेलीमेडीसिन कंसल्टेशन को कैसे बढावा दे और विदेश (जैसे ब्रिटेन, सिगापुर से कैसे सहयोग लिया जा सके, हेल्थ सेक्टर में आर एंड डी इकाई के निवेश में कैसे बढ़ावा दे जिससे उत्तर प्रदेश में अधिक से अधिक आर एंड डी इकाई स्थापित हो सके तथा एमएसएमई कैसे फ़िन्टेक कंपनियो द्वारा आसानी से ऋण प्राप्त कर सके इसपे सुझाव मांगे है।

वर्तमान स्वास्थ्य संकटों पर अपनी चिंता के बारे में विस्तार से बताते हुए, उन्होंने कहा कि सरकार राज्य के वित्त क्षेत्र के लिए आउट-ऑफ-बॉक्स देख रही है, जैसे कि अवांछित धन के एक हिस्से के उपयोग की संभावनाओं पर चर्चा करना, जो पहले से ही विश्व बैंक द्वारा वित्तपोषित है।वर्तमान जरूरतों को पूरा करने के लिए हेल्थ केयर सेक्टर (उपचार और साथ ही टीकाकरण) में सुधार कर रहा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य क्षेत्र में निजी निवेश के वित्तपोषण के लिए सरकार पहले से ही एशियाई विकास बैंक (ADB) के साथ चर्चा कर रही है।

संजय अग्रवाल प्रेसिडेंट पी एच डी चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री ने सभी का स्वागत करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा और सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है। एमएसएमई क्षेत्र में सबसे अधिक उद्यमों के साथ उत्तर प्रदेश भारत में अग्रणी है। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस क्षेत्र के विकास में सहायता के लिए समय-समय पर विभिन्न योजनाओं की घोषणा की है। कोविड -19 के कारण आर्थिक कठिनाई के मद्देनजर, सरकार ने ‘आत्मानिर्भर भारत ’पहल के तहत कुछ योजनाओं की घोषणा भी की है।

डॉ ललित खेतान, चेयरमैन उत्तर प्रदेश चैप्टर पी एच डी चैंबर ने कहा कि एमएसएमई उद्योग रोजगार सृजन के मामले में और निर्यात के माध्यम से विदेशी मुद्रा आय के स्रोत के रूप में यूपी अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण खंड हैं। मुख्यमंत्री, श्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में, उत्तर प्रदेश सरकार इस महामारी के दौरान भी राज्य में निवेशकों को सुरक्षित, और निवेश के अनुकूल माहौल देने के लिए सभी संभव कदम उठा रही है।उन्होंने कहा कि राज्य में निवेश का माहौल काफी बदल रहा है, जो कि भारत सरकार द्वारा जारी ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में राज्य द्वारा ली गई 12 रैंक की छलांग से स्पष्ट है। वह राज्य जो अब ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के मामले में देश में दूसरे स्थान पर है एवं स्थापित उद्योगों के लिए ऑनलाइन और समयबद्ध बाउंड क्लीयरेंस को प्रभावी रूप से सिंगल विन्डो के रूप में कहा है जिसे “निवेशमित्रा” कहा जाता है।

अनिल खेतान फॉर्मर प्रेसिडेंट पी एच डी चैंबर ने अपने संबोधन में बताया कि वर्तमान काल में एमएसएमई के लिए फ़िन्टेक कंपनियो का क्या रोल है तथा एमएसएमई फ़िन्टेक कंपनियो से ऋण लेने कि सुविधा का लाभ भी उठा सकते है। डॉ एच् पी कुमार फॉर्मर सी एम डी एन अस आई सी एवं एडवाइजर पी एच, डी चैंबर और संजीत कुमार सीनियर वाईस प्रेसिडेंट रिसर्जेंट इंडिया लिमिटेड ने कहा ९० प्रतिशत एमएसएमई रोजमर्रा जीवित रहने के काम कर रहे है तथा वर्तमान में एमएसएमई कि चुनौतियों के बारे में विस्तार में चर्चा करते हुए कुछ सुझाव भी दिए।

के के शर्मा जनरल मेनेजर एन अस आई सी ने विस्तार में एन अस आई सी द्वारा नेशनल एसी एस टी हब (ST/ SC Hub) एवं वोमेन एंट्रेप्रिसेस से संबंधित योजनाओ के बारे में चर्चा की। डॉ एस एस आचार्य जनरल मेनेजर सिडबी (अन सी आर) ने सिडबी की शवास एवं अरोग योजनाओ के बारे में विस्तार में बताया ।
पी एच डी चैंबर के प्रधान निदेशक, डॉ रंजीत मेहता एवं श्री अतुल श्रीवास्तव, रेजिडेंट डायरेक्टर ने इस सत्र का अच्छी तरह से संचालित किया।
श्री मुकेश सिंह, सीनियर एडवाइजर पी एच डी चैंबर उत्तर प्रदेश ने सभी प्रतिष्ठित गणमान्य व्यक्तियों और प्रतिभागियों को इस सार्थक सत्र के लिए अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद प्रस्ताव भी प्रस्तुत किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper