एमपी में दूसरे दिन भी आयकर टीम की कार्रवाई जारी

भोपाल: आयकर विभाग ने रविवार थोकबंद कार्रवाई करते हुए मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ के करीबियों के घर पर आयकर विभाग के छापे के बाद राज्य में राजनीतिक हड़कंप मच गया। आयकर विभाग ने मध्य प्रदेश, नई दिल्ली और गोवा में करीब 50 जगहों पर एक साथ छापेमारी की और आज तड़के तक छापेमारी जारी थी। टीम ने मध्य प्रदेश में करीब 35 जगहों पर छापामारी की। इस छापामारी में सीएम कमलनाथ के कई करीबियों के घर और दफ्तर भी शामिल रहे। सीएम कमलनाथ ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा है कि आम चुनाव के दौरान इस तरह की कार्रवाई को तैयार हैं तो एमपी बीजेपी ने कमलनाथ को अपने सहयोगियों को संरक्षण देने का गंभीर आरोप लगाया है। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा है कि उनके घर पर भी आईटी विभाग की टीम छापा मार सकती है लेकिन उनके पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है और वह टीम का स्वागत करेंगे।

राजधानी भोपाल में विभाग की टीम सोमवार तड़के सीएम के पूर्व ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के एसोसिएट अश्विन शर्मा के घर पर छापेमारी कर रही थी। इससे पहले रविवार को भोपाल में अंसल अपार्टमेंट के उनके दो मकानों और प्‍लेटिनम प्‍लाजा में एक फ्लैट को भी खंगाला गया था। इनमें से एक जगह पर कथित तौर पर आईएएस और आईपीएस अफसरों के द्वारा किए गए निवेश से जुड़े कागजात भी मिले हैं। आयकर विभाग की कार्रवाई से मध्य प्रदेश का राजनीति में उथल-पुथल मच गई है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस आमने-सामने हैं। भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि ऐसा लगता है कि केवल चोरों को ही चौकीदार से शिकायत है। वहीं, कांग्रेस नेता शोभा ओझा ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि यह कार्रवाई राजनीतिक बदला लेने के लिए की गई है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस की छवि खराब करने की यह भाजपा की बेकार कोशिश है। यह सफल नहीं होगी। यह संकेत है कि पीएम नरेंद्र मोदी तीन विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की जीत से परेशान हो गए हैं।’ वहीं सीएम कमलनाथ ने सीधे तौर पर तो कोई बयान नहीं दिया है लेकिन यह जरूर कहा है कि पूरे देश को पता है कि कैसे और किसके लिए संवैधानिक संस्थाओं को गलत इस्तेमाल पिछले पांच साल से किया जा रहा है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदांबरम ने भी ट्वीट कर कहा, ‘मुझे बताया गया है कि आयकर विभाग चेन्नई और शिवगंगा स्थित मेरे घरों पर भी छापा मारेगा। हम सर्च पार्टी का स्वागत करेंगे।’ उन्होंने आगे कहा, ‘आयकर विभाग जानता है कि हमारे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। वे और दूसरी एजेंसियां हमारे घर पहले भी तलाश चुकी हैं और कुछ नहीं मिला। इसके पीछे मकसद चुनाव प्रचार अभियान को तोड़ना है। लोग इस सरकार की अति देख रहे हैं और चुनावों में सटीक जवाब देंगे।’ ककक्ड़ के भोपाल और इंदौर स्थित घर और दफ्तर में रविवार को विभाग की टीम सीआरपीएफ की टुकड़ी के साथ रेड डालने पहुंची थी। कक्कड़ का परिवार हॉस्पिटैलिटी समेत विभिन्न क्षेत्रों के कारोबार से जुड़ा है। कमलनाथ के एक और नजदीकी आरके मिगलानी के नई दिल्ली के ग्रीन पार्क स्थित घर पर भी आयकर विभाग ने छापा मारा था। भोपाल में प्रतीक जोशी के घर से बड़ी मात्रा में कैश भी बरामद किया गया है। भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा स्थित एक घर के भीतर इनकम टैक्स की छापेमारी चल रही थी और बाहर एमपी पुलिस और सीआरपीएफ के बीच गंभीर टकराव की नौबत आ गई। सीआरपीएफ ने जहां एमपी पुलिस पर गाली देने और काम में बाधा डालने का आरोप लगाया है, वहीं एमपी पुलिस ने केंद्रीय बल पर आम लोगों को परेशान करने का आरोप लगाया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper