एमवे इंडिया 100% प्लास्टिक वेस्ट न्यूट्रल बना

लखनऊ: देश में सबसे बड़ी एफएमसीजी डायरेक्ट सेलिंग कंपनियों में से एक एमवे इंडिया अपने विस्तारित उत्‍पादक उत्तरदायित्व (ईपीआर) संग्रहण के आधार पर 100% पोस्ट-कंज्यूमर प्लास्टिक वेस्ट का प्रबंधन करने और एमवे विनिर्माण सुविधा में उत्पन्न 100% प्री-कंज्यूमर प्लास्टिक वेस्ट रिसाइकल करने के बाद प्री और पोस्ट कंज्यूमर प्लास्टिक वेस्ट न्यूट्रल कंपनी बन गई है। कंपनी ने 800 मीट्रिक टन पोस्ट-कंज्यूमर प्लास्टिक वेस्ट संग्रह और रिसाइकल किया है, जो 5 करोड़ यूनिट से अधिक प्लास्टिक प्रोडक्ट वेस्ट के प्रबंधन के बराबर है जिसमें विभिन्न आकार की बोतलें, ट्यूबें, कैप, जार और पाउच शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, इसने प्री-प्लास्टिक वेस्ट न्यूट्रलिटी प्राप्त करने के लिए अपने विनिर्माण संयंत्र में 100% खतरनाक प्रोडक्ट्स और प्लास्टिक वेस्ट रिसाइकल और फिर से इस्तेमाल किया है। पर्यावरण और समाज संबंधी समग्र प्रभाव के दृष्टिकोण के जरिए अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाते हुए, कंपनी ने अपनी संवहनीयता महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए कुछ स्पष्ट कदम उठाए हैं, जिससे लोगों की बेहतर जीवन, स्वस्थ जीवन जीने में मदद करने की अपनी दृष्टि को फिर से बहाल किया है।

इस उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए, एमवे इंडिया के एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट, रेगुलेटरी अफेयर्स, आदिप रॉय ने कहा, “एमवे में, स्वस्थ धरती के प्रति हमारी प्रतिबद्धता हमारे प्रोडक्‍ट्स, प्रक्रियाओं और फिलॉसफी में परिलक्षित होती है। संवहनीयता केवल अनुपालन से नहीं जुड़ी है बल्कि एमवे की संस्कृति का अंतर्निहति हिस्सा है। प्री और प्रोस्‍ट-कंज्‍यूमर प्लास्टिक वेस्ट न्यूट्रलिटी हासिल करना हमारी उपलब्धियों में से एक है। जैसे-जैसे हम आगे बढ़ेंगे, हम अपने प्रोडक्‍ट्स की बोतलों को रिसाइकल किए गए प्लास्टिक से बनाकर हम जो परिकल्पना कर रहे हैं, उसके अनुरूप प्लास्टिक वेस्ट पॉल्यूशन कम से कम करने के तरीकों को पता लगाना जारी रखेंगे। हम दुनिया में सकारात्मक बदलाव लाकर और आने वाली पीढ़ियों की फलने-फूलने में मदद कर अधिक संवहनीय कंपनी बनने के प्रति प्रतिबद्ध और दृढ़संक‍ल्‍प हैं।” एक जिम्मेदार कॉर्पोरेट के रूप में, एमवे इंडिया प्लास्टिक वेस्‍ट के प्रबंधन के लिए केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) में पंजीकरण कराने वाले देश के पहले ब्रांड स्‍वामियों में से एक है।

इसके अलावा, एमवे इंडिया में, मुख्य रूप से विनिर्माण और योजना निर्माण और खरीद विभागों की क्रॉस-फ़ंक्शनल टीम ने एक साथ मिलकर संगठन के दीर्घकालिक संवहनीय विकास के उद्देश्य से, धरती पर हमारे व्यवसाय का प्रभाव कम से कम करने के लिए उल्लेखनीय प्रयास किया है। कुछ प्रमुख संवहनीयता पहलों में संयंत्र में नवीकरणीय ऊर्जा का इस्‍तेमाल, सॉयल एंड वाटर कंजर्वेशन और संवहनीय कृषि पद्धतियां शामिल हैं। इसके अलावा, सतत संवहनीयता प्रयासों के माध्यम से, कंपनी कागज इस्‍तेमाल में कमी, आपूर्ति श्रृंखला अनुकूलन और सौर ऊर्जा के इस्‍तेमाल के माध्यम से लगभग 10.50 लाख KGCO2e तक कार्बन उत्सर्जन कम करने में सफल रही है, जो साल दर साल 47000 पेड़ों को बचाने के बराबर है।

न्‍यूट्रीलाइट के लिए इन्‍ग्रीडिएंट मंगाने में अपनी संवहनीयता की कहानी लिख रहा है

80 सालों से अधिक की समृद्ध विरासत के साथ, एमवे के ब्रांड न्यूट्रीलाइट ने सप्‍लीमेंटेशन के लिए सीड-टू-सप्लीमेंट दृष्टिकोण का समर्थन किया है। कंपनी अपने स्वयं के प्रमाणित खेतों और भागीदार खेतों पर उगाए गए पौधों से अपने इन्‍ग्रीडिएंट मंगा रही है, जिससे दुनिया भर में गुणवत्तायुक्‍त पोषण प्रोडक्‍ट प्रदान कर रही है। संवहनीयता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप, एमवे खेती में पारिस्थितिक रूप से संवहनीयता मानकों का पालन कर रही है, जैसे कि अच्छी कृषि पद्धतियाँ (जीएपी), विविधता के साथ संरक्षित भूदृश्य, और हर्ब्स की खेती और संग्रह के लिए सही भौगोलिक स्थान का चयन करना। इसके अलावा, ट्रेसेबिलिटी वह एक और अभिन्न भाग है जो पारदर्शी आपूर्ति श्रृंखला का निर्माण करने, संवहनीयता के उद्देश्यों को आगे बढ़ाने, प्रलेखन में सहायता करने और प्रोडक्‍ट की सुरक्षा और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए रॉ मटेरियल से लेकर तैयार मटेरियल तक प्रोडक्‍ट पैथ पर नजर रखने में मदद करता है

तमिलनाडु में एमवे इंडिया के विनिर्माण संयंत्र में और उसके आसपास हरित पहलें।

तमिलनाडु में एमवे इंडिया की विनिर्माण सुविधा को यूएस ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल से प्रतिष्ठित एलईईडी गोल्ड सर्टिफिकेशन के साथ देश में सबसे अधिक पर्यावरण अनुकूल और संवहनीय सुविधाओं में से एक के रूप में मान्यता मिली है। पर्यावरण के संरक्षण के प्रति प्रतिबद्धता के साथ, कंपनी ने अपनी विनिर्माण साइट के अंदर कुछ सचेत कदम उठाए हैं जिनमें से कुछ प्रमुख पहलें इस प्रकार हैं:

• 63 प्रतिशत ऊर्जा खपत नवीकरणीय पवन और सौर ऊर्जा स्रोतों से होती है
• यह तमिलनाडु में सबसे बड़े रूफ-टॉप सोलर प्‍लांटों में से एक है, जो लगभग 100,000 स्‍क्‍वॉयर फीट में फैला है, और यह शून्य-वाटर डिस्‍चार्ज साइट है।
• 5000किलोलीटर जल भंडारण के साथ वर्षा जल संचयन
• उन्नत वाटर रिसाइक्लिंग प्रोसेस और भूदृश्‍य निर्माण के उद्देश्यों से वेस्‍ट वाटर का फिर से इस्‍तेमाल
अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहत एमवे इंडिया ने तमिलनाडु के डिंडीगुल जिले में अपने विनिर्माण संयंत्र के आसपास जल संरक्षण परियोजना शुरू की है। भूजल स्तर बढ़ाने का उद्देश्य रखने वाली इस परियोजना से कृषि और पेयजल उद्देश्यों से पानी की कमी कम करने में मदद मिली है। जल संरक्षण परियोजना से 7 गाँवों में भूजल स्तर में सुधार आया है, जिससे किसानों सहित 10,000 से अधिक लोगों को फायदा पहुँचा है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper