एयर स्ट्राइक पर सवाल उठाने वालों को वीके सिंह का जवाब, कहा HIT मारकर अब मच्छर गिनू क्या

नई दिल्ली: भारत द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में पल रहे आतंकी ठिकानों पर की गई एयर स्ट्राइक में कई आतंकी मारे गए थे। जिसके बाद दुनियाभर में भारत द्वारा उठाए गए इस कदम को सराहा गया था। इस एयरस्ट्राइक के बाद विपक्ष के कई नेता सवाल खड़े कर रहे हैं। जिसके बाद विदेश राज्य मंत्री जनरल वी के सिंह ने एक ट्विट के द्वारा विपक्षियों को जवाब दिया है।

जनरल वी के सिंह ने बुधवार सुबह एक ट्वीट शेयर कर विपक्षी नेताओं पर तंज कसा। वी के सिंह ने एक जोक शेयर करते हुए लिखा कि रात 3.30 बजे मच्छर बहुत थे, तो मैंने HIT मारा। अब मच्छर कितने मारे, ये गिनने बैठूँ, या आराम से सो जाऊँ? वी के सिंह ने कहा कि मेरा विपक्षियों को एक सुझाव है, वहां पर चले जाएं देख आएं, गिन लें और आ जाए। अगर पूछते रहेंगे तो कुछ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि विपक्षी नेता एयरफोर्स के जहाजों के साथ चले जाते बम के साथ और गिनकर आ जाते। अगर विपक्ष गिनना चाहता है तो यही एक तरीका है।

देश की सबसे खूबसूरत महिला नेता…जिसे बाबा रामदेव के आश्रम में हो गया था विधायक से प्यार

वीके सिंह ने विपक्षियों पर कड़ा वार करते हुए कहा कि इनके पास कुछ कहने के लिए है नहीं तो यही कहेंगे। जब राजनीति के अंदर लोग बहुत नीचे स्तर पर गिरना चाहते हैं उनका कुछ नहीं किया जा सकता है। बता दें कि कांग्रेस के दिग्विजय सिंह, मनीष तिवारी, सलमान खुर्शीद समेत कई बड़े नेताओं ने एयरस्ट्राइक पर सवाल खड़े किए थे।

गौरतलब है कि 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सेना के काफिले पर आतंकियों द्वारा आत्मघाती हमला किया गया था। इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। जिस के बाद से पूरे देशभर में पाकिस्तान से बदला लेने की लहर थी। इस हमले के 13 दिन बाद पाकिस्तान के बालाकोट में पल रहे आतंकी ठिकानों पर भारत द्वारा एयर स्ट्राइक की गई थी। इस स्ट्राइक में कई आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया गया था और 300 से अधिक आतंकी मारे गए थे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper