एलएमआरसी और लखनऊ नगर निगम के बीच कर भुगतान के लिए हुआ समझौता

लखनऊ ब्यूरो। लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (एलएमआरसी) और लखनऊ नगर निगम (एलएनएन) के बीच सोमवार को कर भुगतान के लिए एक समझौता किया गया। इस समझौते से अब मेट्रो गो-स्मार्ट कार्ड धारक अपने स्मार्ट कार्ड से मकान और सम्पति कर (प्रॉपर्टी टैक्स) का भुगतान कर सकेंगे।

इस समझौते पर लखनऊ के संभागीय आयुक्त व लखनऊ स्मार्ट सिटी लिमिटेड के चेयरमैन अनिल गर्ग और एलएमआरसी के प्रबंध निदेशक की मौजूदगी में लखनऊ मेट्रो के प्रशासनिक कार्यालय में समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।

इस मौक़े पर एलएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव ने कहा कि हमारा मूल उद्देश्य है कि लखनऊ वासियों के बीच ‘स्मार्ट ट्रैवल’ के विचार का प्रचार-प्रसार किया जाए। उन्होंने कहा कि इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए एलएमआरसी हर संभव प्रयास कर रहा है। लखनऊ मेट्रो अपने उपभोक्ताओं के लाभ और सहूलियत को ध्यान में रखते हुए अधिक से अधिक सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है।

लखनऊ के आयुक्त अनिल गर्ग ने कहा कि इस समझौते को इतने कम समय में और इतने प्रभावी ढंग से अंजाम देने के लिए मैं एलएमआरसी की सराहना करता हूं। इस समझौते से लखनऊ वासियों को निश्चित रूप से एक बेहतर जीवन शैली का उपहार मिल सकेगा।
उन्होंने कहा कि स्मार्ट कार्ड के माध्यम से हाउस और प्रॉपर्टी टैक्स आदि का भुगतान, एक ऐसा नवीन प्रयोग है जो भारत में पहली बार हो रहा है।

इस समझौते से लखनऊ मेट्रो के गो-स्मार्ट कार्ड धारक यात्री मेट्रो स्टेशनों पर स्थित टिकट काउंटरों (टीओएम) पर अपने स्मार्ट कार्ड के ज़रिए नगर निगम के हाउस और प्रॉपर्टी टैक्स का भुगतान करने में सक्षम होंगे। भुगतान की राशि लखनऊ मेट्रो द्वारा पूरी जानकारी के साथ लखनऊ नगर निगम को दी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि इसके पूर्व एलएमआरसी और बीएसएनएल के बीच इस तरह का समझौता हुआ था, जिसके अंतर्गत उपभोक्ताओं को गो-स्मार्ट कार्ड के माध्यम से बीएसएनएल के प्रीपेड और पोस्ट-पेड बिलों के भुगतान की सुविधा मुहैया कराई गई थी। ताकि मेट्रो यात्री स्टेशनों पर स्मार्ट कार्ड के ज़रिए बिल का भुगतान कर सके।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper