एससी-एसटी बिल के संशोधन के खिलाफ राजधानी में उतरे लोग सड़क पर

लखनऊ ब्यूरो। एससी-एसटी बिल के संशोधन के खिलाफ भारत बंद का राजधानी में मिला जुला असर देखने को मिला। हजरतगंज स्थित महात्मा गांधी पार्क में पुलिस ने प्रदर्शन पर हाइकोर्ट का हवाला देकर रोक लगा दी जिसके बाद प्रदर्शनकारियों ने पार्क के बाहर धरना दिया। आंदोलनकारियों ने कहा कि तत्काल गिरफ्तारी की जगह क्यों न हमें फांसी की सजा दे दी जाये। क्योंकि गलत गिरफ्तारी के बाद हम सम्मान से अपना जीवन यापन नहीं कर पायेंगे। आज इस काले कानून से सामान्य वर्ग को शोषित किया जा रहा है।

राजधानी के इंजीनिरिंग चौराहा, कपूरथला और अलीगंज में भी प्रदर्शन देखने को मिला। यहां दो बजे के करीब सैकड़ों युवाओं ने सड़कों पर उतार कर प्रदर्शन किया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने एक दुकान का कांच तोडऩे के साथ नॉवेल्टी सिनेमा सहित कई शोरूम और रेस्टोरेंटों को बंद करवा दिया। यहां प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भारतीय राष्ट्रवादी मोर्चा के अध्यक्ष प्रांजल तिवारी ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार केवल अपने राजनैतिक फायदे के लिए यह सब कर रही है।

उन्होंने कहा क्या केंद्र सरकार धारा 370, राममंदिर निर्माण पर भी ऐसा कदम संसद में उठा सकती है। तिवारी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अभी सवर्ण समाज शांति से इस कानून में बदलाव की मांग कर रहा है। लेकिन अगर सरकार ने हमारी मांगों पर विचार नहीं किया तो हम क्रांति के मार्ग पर चलना भी जानते हैं। उन्होंने कहा कि इस कानून के संरक्षण में सवर्ण समाज की महिलाओं से अभद्रता की जायेगी। इस दौरान मोदी और योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गयी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper